बिहार में इस बार गर्मी तोड़ेगी 10 वर्षों का रिकार्ड, मार्च में ही पटना के लोगों का छूट जाएगा पसीना

खबरें बिहार की

प्रदेश में पछुआ के प्रभाव से मौसम का तल्ख तेवर मार्च में ही दिख रहा है। सुबह के समय हल्की ठंड और इसके बाद तेज धूप निकलते हीं लोगों को गर्मी का अहसास हो रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी राजेश कुमार ने बताया कि पछुआ के कारण मार्च में ही पटना का पारा 38 डिग्री सेल्सियस पार कर जाएगा। अधिकतम पारा 38-40 के बीच रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि इस बार 10 वर्षो का रिकार्ड टूटने के आसार हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र से प्राप्त आंकड़े के अनुसार 2019 में 31 मार्च को पटना का सर्वाधिक अधिकतम तापमान 39.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 2020 में 27 मार्च को पटना का सर्वाधिक अधिकतम तापमान 36.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दो मार्च 2019 को सबसे कम न्यूनतम तापमान 9.7 डिग्री सेल्सियस एवं 17 मार्च 2016 को सबसे अधिक न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

पटना का 2011 से  2020 तक मार्च में अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान

वर्ष          अधिकतम                     न्यूनतम 

2011           37.5(25)               10.0(01)

2012          38.9(28)                11.9(01)

2013          36.0(25)               14.1(02)

2014          38.0(29)               12.5(04)

2015          37.6(26)              12.0(06)

2016          37.7(20)              14.5(17)

2017          37.8(25)              11.2(14)

2018         38.0(25)              13.6(08)

2019         39.0(31)               9.7(02)

2020         36.0(27)              13.7(10)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.