बिहार के हर पंचायत-वार्ड में 15 अगस्त को लहराएगा तिरंगा, झंडा फहराने खर्च को मिलेंगे एक हजार

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में इस साल 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 15 अगस्त को राज्य की सभी 8067 ग्राम पंचायतों और 1.11 लाख वार्डों में तिरंगा झंडा फहराया जाएगा। झंडा फहराने के लिए सभी पंचायतों-वार्डों को खर्च के रूप में एक-एक हजार रुपये दिए जाएंगे। पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर यह आयोजन किया जा रहा है। इससे देशवासियों में राष्ट्रीय ध्वज के प्रति आस्था पैदा होगी। लोग अपने आप ही अपने घरों पर झंडोत्तोलन करेंगे।

सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि 13 और 14 अगस्त को ग्राम पंचायतों में एक विशेष ग्रामसभा का आयोजन किया जाए, जिसमें पंचायत के सभी निर्वाचित सदस्य, सरकारी कर्मी तथा संविदा कर्मी हिस्सा लेंगे। इस ग्राम सभा में भारत की आजादी की लड़ाई के विभिन्न पहलुओं एवं स्थानीय स्वतंत्रता सेनानियों के कार्यों पर प्रकाश डाला जाएगा। साथ ही योजनाओं का चयन किया जाएगा।

पंचायत मुख्यालय में मुखिया एवं वार्ड में वार्ड सदस्य द्वारा ध्वज संहिता 2022 के नियमों का पालन करते हुए सरकारी स्थानों यथा-पंचायत सरकार भवन, पंचायत भवन, मनरेगा भवन एवं वार्ड में बने हर घर नल का जल की टंकी पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय जीविका संगठनों से विभिन्न आकार यथा 20×30, 16×24, 6×9 का झंडा खरीदने को प्राथमिकता दी जाएगी। प्रत्येक पंचायत एवं वार्ड में ध्वजारोहण के लिए अधिकतम एक हजार रुपये छठे राज्य वित्त आयोग की सामान्य निधि से खर्च किया जाएगा। इस झंडे का उपयोग गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस आदि मौके पर किया जा सकता है। मात्र इस पर ध्यान रखना है कि झंडा अधिनियम के अनुसार इसका सम्मान रखते हुए झंडोत्तोलन किया जाए और सूर्यास्त के पहले उतार कर इसे रख दिया जाए।

हर घर तिरंगा की भी है योजना

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा है कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता को सुदृढ़ करने का एक महत्वपूर्ण अभियान है। इससे हमारे देश की राष्ट्रीय भावना उच्चतम स्तर पर पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम में संपूर्ण जन-भागीदारी के साथ स्वास्थ्य, सहकारिता, ग्रामीण विकास, विभाग सहित राष्ट्रीय सेवा योजना, नेहरू युवा केंद्रों, आंगनबाड़ी केंद्रों, जन वितरण प्रणाली की दुकान, सभी थाना, सभी पंचायत और पंचायत समितियों, जीविका स्वयं सहायता समूहों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस कार्यक्रम में लोग अपने घरों पर झंडोत्तोलन करेंगे।

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत होने वाले हर घर तिरंगा कार्यक्रम को लेकर रविवार शाम केन्द्रीय गृहमंत्री एवं संस्कृति मंत्री की मौजूदगी में देशभर के राज्यों की बैठक हुई थी, जिसमें बिहार के उप मुख्यमंत्री प्रसाद वर्चुअली जुड़े। तारकिशोर प्रसाद ने सोमवार को कहा कि बिहार में हर घर तिरंगा कार्यक्रम हेतु तकरीबन 1,60,50,000 घरों पर झंडा फहराने का लक्ष्य रखा गया है एवं इसकी विस्तृत कार्य योजना तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों सहित हर वर्ग के लोग आजादी की संघर्ष यात्रा एवं बलिदान से परिचित हो सकेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.