बिहार में गहराया बिजली संकट, 13 सौ मेगावाट तक की कमी, मंत्री ने समस्‍या दूर होने का दिया भरोसा

जानकारी

गुरुवार को बिहार में पीक आवर में बिजली संकट बड़े स्तर पर दिखा। 12 सौ से 14 सौ मेगावाट तक की कमी हो गयी। संकट यह है कि पावर एक्सचेंज में बिजली नहीं रहने की वजह से यह संकट और गहरा गया। इस वजह से फीडर को रोटेशन पर चलाया जा रहा। इस कारण गांव व शहरी क्षेत्र में छह से आठ घंटे तक बिजली संकट का सामना करना पड़ रहा है। पांच दर्जन ग्रिडों के लोड शेडिंग पर रखे जाने की सूचना है।  वैसे उम्मीद कि शुक्रवार तक स्थिति सामान्य होगी। ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि नवीनगर बिजली उत्पादन इकाई से बिजली मिलने लगेगी तो स्थिति ठीक हो जाएगी।

पीक आवर में 63 सौ मेगावाट तक पहुंच रही डिमांड 

आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार पीक आवर में बिजली की मांग 62 सौ से 63 सौ मेगावाट तक पहुंच रही है। आपूर्ति रात आठ बजे 49 सौ मेगावाट की थी। एनटीपीसी द्वारा 47 सौ मेगावाट की आपूर्ति हो रही है। एनटीपीसी की कहलगांव की एक यूनिट बंद होने से परेशानी थी। यह यूनिट देर शाम चालू हो गयी है। बाढ़ की एक यूनिट भी कल तक लाइटअप हो जाने की उम्मीद है। बिजली कंपनी के सीएमडी संजीव हंस ने बताया कि पावर एक्सचेंज में बिजली की अनुपलब्धता का स्थिति यह है कि बिजली ने बुधवार को पंद्रह सौ मेगावाट बिजली के लिए बिड किया था पर मात्र नौ मेगावाट बिजली ही उपलब्ध हो सकी। एक दिन छह सौ मेगावाट का बिड हुआ तो 29 मेगावाट बिजली मिली।

बिहार में बिजली की कमी  नहीं होने देगी सरकार 

ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने गुरुवार को कहा कि सरकार बिहार में बिजली कमी नहीं होने देगी। बिहार में बिजली की कमी को पूरा करने के लिए हर स्तर पर प्रयासरत है। जदयू प्रदेश कार्यालय में जन सुनवाई कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से बातचीत के क्रम में उन्होंने यह बात कही। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि नवीनगर बिजली केंद्र की एक यूनिट आज चालू हो जाएगी। इसके बाद बिहार को पांच सौ से छह सौ मेगावाट बिजली की उपलब्धता हो सकेगी। सरकार प्राथमिकता के आधार पर एक हजार यूनिट बिजली की कमी को पूरा करने में लगी है। एक-दो दिनों के अंदर इसका निराकरण कर लिया जाएगा।

पटना की नई रूट में भी चलेगी सीएनजी बस

जन सुनवाई कार्यक्रम में परिवहन मंत्री शीला मंडल भी शामिल हुईं। उन्होंने कहा कि पटना के कई रूटों पर सीएनजी बसों का परिचालन आरंभ किया जा रहा है। शेष रूटों पर भी सीएनजी बस चलाने की योजना है। इसके लिए बसों की खरीद की गयी है। जन सुनवाई कार्यक्रम में डा. नवीन आर्य चंद्रवंशी, प्रदेश महासचिव मृत्युंजय कुमार सिंह भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.