बिहार में ऐतिहासिक पूजा, मिट्टी और गंगाजल से एक दिन में तैयार किए सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के मधुबनी में भगवान शिव की ऐतिहासिक पूजा का आयोजन हुआ। सौराठ सभागाछी परिसर में हजारों शिवभक्तों ने एक दिन के अंदर सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग तैयार कर लिए और उसकी पूजा की गई। श्री-श्री 1008 पार्थिव लिंग पूजा समिति के तत्वावधान में सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग पूजन में सवा लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी और इस ऐतिहासिक आयोजन में हिस्सा लिया।

यह आयोजन रविवार को हुआ। आयोजन स्थल पर सुबह 9 बजे से देर शाम तक भीड़ जुटी रही। करीब 151 हवन कुंडों के माध्यम से एक ही दिन में सवा करोड़ से भी ज्यादा पार्थिव शिवलिंग तैयार किए गए। कई एकड़ में फैले सौराठ सभागाछी परिसर में अलग-अलग कुंड के साथ पंडाल भी बनाए गए।

11 हजार श्रद्धालुओं ने तैयार किए शिवलिंग

मधुबनी जिले के 151 से ज्यादा गांवों से 11 हजार से अधिक शिवभक्तों ने पार्थिव लिंग श्रद्धा और निष्ठापूर्वक बनाए। इसमें महिलाओं की भागीदारी भी रही। सुबह चार बजे से ही हर पंडाल में महादेव के पार्थिव लिंग बनाने का सिलसिला शुरू हो गया। दोपहर करीब 3 बजे तक सवा करोड़ से ज्यादा शिवलिंग तैयार हो चुके थे। इन पार्थिव शिवलिंगों की अलग-अलग कुंडों में लगातार पूजन भी चल रही थी। इसके बाद महारुद्राभिषेक किया गया। शाम में शिवलिंगों की महाआरती में भी हजारों श्रद्धालु शामिल हुए।

मिट्टी में गंगाजल और पंचगव्य मिलाकर तैयार किए गए शिवलिंग

सौराठ सभागाछी में मिट्टी के अंदर गंगाजल और पंचगव्य मिलाकर सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंगों को तैयार किया गया। इसकी तैयारी के लिए 200 से ज्यादा युवा कार्यकर्ता दिन-रात जुटे रहे। एक दिन पहले ही पार्थिव लिंग निर्माण के लिए मिट्टी तैयार कर दी गई थी।

रविवार को सौराठ सभागाछी में करीब सवा लाख श्रद्धालु पहुंचे। इस दौरान ट्रैफिक कंट्रोल करना मुश्किल हुआ। मधुबनी से सौराठ जाने वाले वाहनों की एक किलोमीटर पहले ही पार्किंग की व्यवस्था करवाई गई। वहां से श्रद्धालु पैदल ही कार्यक्रम स्थल पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.