बिहार में छिपा है देश का आधा स्वर्ण भंडार, ‘सोने’ की खुशी में झूम रहा जमुई का ‘सोनो’

जानकारी

भारत को कभी सोने की चिड़िया कहा जाता था। बाहरी मुगलों से लेकर अंग्रेजों तक ने भारत को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ी। लेकिन सदियों तक चली लूट के बाद भी बिहार में एक जगह उनकी नजर से अछूती रह गई। ये वो जगह है जहां न जाने कई शताब्दियों से देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार छिपा हुआ है। सबकी नजरों से दूर… जमीन से काफी अंदर, जहां देखना तो दूर पहुंचना भी काफी मुश्किल है।

बिहार के जमुई में देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार

बिहार के जमुई जिले के सोनो इलाकों में कहीं मौजूद गोल्ड की खदान में इतना सोना है जितना देश में और कहीं नहीं है। बिहार बीजेपी के अध्‍यक्ष और लोकसभा सदस्‍य संजय जायसवाल ने इसी शीतकालीन सत्र में इसको लेकर केंद्र सरकार से जानकारी मांगी थी। उन्‍होंने सवाल पूछा कि कि क्या वाकई देश में सबसे बड़ा स्‍वर्ण भंडार बिहार में है? इसके जवाब में खान, कोयला एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस बात की पुष्टि कर दी।.

क्या कहा केंद्रीय खनन मंज्ञी ने

केंद्रीय खान, कोयला एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने एक खत के जरिए बताया कि ‘देश में कुल 501.83 टन का प्राथमिक स्‍वर्ण अयस्‍क भंडार है, जिसमें 654.74 टन सोना है। इसमें 44 फीसदी सोना केवल बिहार में पाया गया है। प्रदेश के के जमुई जिले के सोनो क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्‍क सहित 222.885 म‍िलियन टन स्‍वर्ण धातु से संपन्‍न भंडार मिला है।’ देखिए वो चिट्ठी जमुई के सोनो के लोग खुशी में झूम रहे

देश में मौजूद कुल स्वर्ण भंडार का अकेले 44 फीसदी सोना जमुई के सोना करमटिया इलाके में मिलने से लोग झूम रहे हैं। इसी इलाके के चुरहेत गांव के निवासियों के मुताबिक वो लोग बचपन से ही ये देखते आ रहे हैं कि 8 किलोमीटर के दायरे में मिट्टी में चमकने वाली धातु दिखाई देती है जो कुछ और नहीं बल्कि सोना ही है। इसी दौरान महेश्वरी गांव के निवासियों ने बताया कि 15 साल पहले ही यहां सर्वेक्षण के लिए कोलकाता से एक टीम भी आई थी। तब भी इस इलाके में स्वर्ण भंडार को लेकर करीब-करीब पुष्टि हुई थी।

 

लोग मिट्टी छानकर निकालते थे सोना’

जमुई जिले में सोनो प्रखंड के चुरहेत पंचायत का करमटिया गांव कई सालों से अकूत स्वर्ण भंडार को लेकर सुर्खियों में रहा है। यहां के निवासियों के मुताबिक काफी पहले तो यहां की मिट्टी में सोने के बिल्कुल बारीक टुकड़े तक मिलते थे। उस दौरान करमटिया के लोग मिट्टी को नदी के पानी में साफ कर छानते हुए सोना तक निकालते थे। इसी वजह से केंद्र की एक टीम सर्वे के लिए आए थे और कई महीनों तक सर्वे का काम चला था। कहा जा रहा है कि उसी सर्वेक्षण में ये पता चला कि बिहार में देश का 44 फीसदी स्वर्ण भंडार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.