बिहार में अब शराब तस्करों पर मोटर बोट से निगरानी शुरू, गंगा नदी के चप्पे-चप्पे की होगी गश्ती

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में शराब तस्करों पर नकेल कसने के लिए प्रशासन ड्रोन से लेकर हेलिकॉप्टर क का इस्तेमाल कर रहा है। अब इस क्रम में मोटर बोट भी शामिल हो गई है। राजधानी पटना में दीघा स्थित जनार्दन घाट पर मोटरबोट की शुरुआत की। इससे रात में भी गंगा नदी के सघन इलाके में तस्करों पर नजर रखी जा सकेगी। जल्द ही दूसरी मोटर बोट भी उपलब्ध हो जाएगी।

पटना जिले में गंगा नदी में दियारा क्षेत्र में मोटर बोट से गश्ती की जाएगी। एक मोटर बोट की लागत करीब 20 लाख रुपये है। यह एक स्पीड मोटर बोट है, जो ड्रोन कैमरा, नाइट विजन, थर्मल विजन और जीपीएस सिस्टम जैसी सुविधाओं से लैस है। इस की छत पर एक लॉन्चिंग पैड बना हुआ है, जहां से ड्रोन टेक ऑफ और लैंड कर सकते हैं।

डीएम चंद्रशेखऱ सिंह ने रविवार को बताया कि इससे नदी में गश्ती और छापेमारी का काम आसान होगा। उन्होंने कहा कि शराबबंदी को पूर्णतया लागू करने के लिए प्रशासन सक्रिय है। गंगा और सोन नदी में बड़े पैमान पर पेट्रोलिंग कराई जा रही है। मोटर बोट के आने से रात में भी सघन गश्ती हो सकेगी।

मद्य निषेध, उत्पाद और निबंधन विभाग ने 50 किलोमीटर की दूरी पर एक गश्ती दल लगाया है। यह दल सड़क से लेकर नदियों तक शराब की तस्करी पर नजर रखेगा। ड्रोन के जरिए अवैध शराब के निर्माण का पता लगाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.