बिहार में 24 घंटे में दोगुने हुए संक्रमित, पटना में 1000 से अधिक नए मामले

जानकारी

बिहार में कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है। बुधवार को एक साथ 1659 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसमें सबसे अधिक मरीज पटना के हैं। पटना में 24 घंटे में 1015 लोगों में संक्रमण मिला है।

बिहार में हर दिन करीब दोगुने रफ्तार से कोरोना मरीजों में वृद्धि हो रही है। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुये राज्य सरकार ने 6 जनवरी से 21 जनवरी तक बिहार में नाइट कर्फ्यू भी लगाने की घोषणा कर दी है। मंगलवार को बिहार में 893 मरीज मिले थे। इसमे सबसे अधिक पटना के 565 मरीज शामिल थे।

 

मिली जानकारी के अनुसार पटना में बुधवार को कुल 1030 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 187 ऐसे लोग पॉजिटिव आए हैं जिन्होंने पटना में जांच कराई लेकिन वे दूसरे जिलों के रहने वाले हैं। ऐसे में अकेले पटना जिले से कुल 831 नए मामले पॉजिटिव आए हैं।

 

जनता दरबार और समाज सुधार यात्रा रद्द

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ‘समाज सुधार अभियान’ और ‘जनता दरबार में मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम को अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बुधवार को मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग से जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 (Covid 19) संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर राज्य सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि मुख्यमंत्री के समाज सुधार अभियान के तहत आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम और जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम अगले आदेश तक स्थगित रहेंगे।

दोनों डिप्टी सीएम भी पॉजिटिव

प्रदेश के उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उनके अलावा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की कैबिनेट के 2 अन्‍य मंत्री भी कोरोन पॉजिटिव पाए गए हैं। बुधवार को होने वाली कैबिनेट बैठक से पहले इन सभी की मंगलवार को RT-PCR जांच के लिए सैंपल्‍स लिए गए थे। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। COVID-19 पॉजिटिव पाए गए मंत्रियों में अशोक चौधरी और सुनील कुमार भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.