बिहार की साइकिल गर्ल ज्‍याेति को इवांका ट्रम्‍प ने किया था सलाम, जानिए तेज प्रताप के भी किस्‍से

खबरें बिहार की जानकारी

साइकिल गर्ल ज्योति (Cycle Girl Jyoti) याद है आपको? वहीं, जिसने कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) के दौरान साल 2020 में लगे लाकडाउन (Lockdown) में अपने पिता को साइकिल पर बैठाकर गुरुग्राम से दरभंगा (Gurugram to Darbhanga on Cycle) तक का करीब 1300 किमी का सफर तय किया था। तब उसके हौसले की तारीफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ-साथ अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डानाल्‍ड ट्रंप (Donald Trumph) की बेटी इवांका ट्रंप (Iwanka Trumph) ने भी की थी। ज्‍योति की तरह ही लांग रूट पर साइकिल से निकले बिहार के सारण जिले के रामायण प्रसाद (Ram Narayan Prasad) को भी याद कीजिए। भ्रष्टाचार की शिकायत पर जब अधिकारियों ने नहीं सुनी, तो उन्‍होंने साइकिल उठाई और सीधे राष्ट्रपति रामनाथ रामनाथ कोविन्द (President Ram nath Kovind) से मिलने दिल्‍ली निकल पड़े। शुक्रवार को विश्‍व साइकिल दिवस (World Cycle Day) पर उन्‍हें याद करना तो बनता ही है। लेकिन बात साइकिल वीरों को हो और राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े लाल तेज प्रताप यादव यादव (Tej Pratap Yadav) याद नहीं आएं, यह भला कैसे हो सकता है?

बीमार पिता को लेकर साइकिल से 1300 किमी का सफर

बिहार के दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली गांव की 13 साल की ज्योति साइकिल गर्ल के नाम से भी जानी जाती है। साल 2020 के लाकडाउन के दौरान उसने अपने बीमार पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बैठाकर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा तक 1300 किमी का सफर आठ दिनों में तय किया था। ज्योति के आटो चालक पिता मोहन पासवान के पैर में एक दुर्घटना में काफी चोट आई थी। दुर्घटना के बाद ज्योति पिता की पास देखभाल करने दरभंगा से गुरुग्राम चली गई, लेकिन इसी बीच पूरे देश में लाकडाउन लग गया। इसके बाद वह वहां से एक पुरानी साइकिल पर पिता को लेकर दरभंगा लौटी। तब उसके इस हौसले की चर्चा पूरे विश्‍व में हुई थी। अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trumph) की बेटी इवांका ट्रंप (Ivanka Trumph) ने कहा था कि ऐसा साहसिक कार्य भारत की बेटी ही कर सकती है। पिछले साल ज्‍योति के पिता की मौत हो गई। इसक बाद कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने उससे फोन पर बात की।

साइकिल से राष्‍ट्रपति से मिलने दिल्‍ली चल दिए रामायण

ज्‍याेति ने साइकिल से करीब 1300 किमी की दूरी तय की तो सारण के भैरोपुर निजामत के रामायण प्रसाद चौरसिया ने भी साइकिल से दिल्‍ली तक की दूरी नापने की ठानी। जनवितरण प्रणाली में व्याप्त भ्रष्टाचार की शिकायत की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इससे वे इतने नाराज हुए कि बीत महीने जनता से हो रही ठगी की शिकायतों का पुलिंदा लेकर सीधे राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से मिलने एक हजार किलोमीटर के सफर पर साइकिल से निकल गए।

..और अंत में जानिए तेज प्रताप के साइकिल वाले अंदाज

बात साइकिल की हो तो लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेज प्रताप यादव की याद तो आ ही जाती है। तेज प्रताप यादव बिहार ही नहीं उत्‍तर प्रदेश के वृंदावन में भी साइकिल चलाते दिख चुके हैं। बीते साल फरवरी में वृंदावन गए तेज प्रातप को साइकिल चालते देखने सड़कों पर भीड़ उमड़ पड़ी थी। शादी के बाद पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) को साइकिल से घुमाते उनकी एक तस्‍वीर साल 2018 में वायरल हुई थी। एक बार तो वे पटना में साइकिल चलाते हुए सड़क पर गिर भी चुके हैं। तेज प्रताप यादव को साइकिल चलाने का पुराना शौक है। महागठबंधन की सरकार के वक्‍त स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रहते हुए वे कई बार पटना की सड़कों पर साइकिल चलाते देखे गए थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.