बिहार के विधायकों को निशुल्क दिखाई जाएगी ‘द कश्मीर फाइल्स’, माननीयों के लिए 25 मार्च को होगा खास शो

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में कश्मीर फाइल्स फिल्म को टैक्स फ्री करने के बाद अब सरकार राज्य के विधायकों को यह फिल्म फ्री में दिखाएगी। इसको लेकर तैयारी कर ली गई है। कश्मीरी हिन्दुओं की प्रताड़ना पर आधारित फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स को बिहार के विधायकों को पूरी तरह निशुल्क दिखाने की तैयारी है। 25 मार्च को विधानमंडल के सभी सदस्यों के लिए पटना स्थित सिने पोलिस में विशेष शो आयोजित किया जाएगा। उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने गुरुवार को सदन में इसकी जानकारी दी। यह विशेष शो शाम साढ़े छह बजे आयोजित होगा। मालूम हो कि भाजपा सदस्यों की मांग पर राज्य सरकार ने इस फिल्म को कर मुक्त किया है। तारकिशोर प्रसाद ने बताया कि सभी सदस्यों को अलग से आमंत्रित किया जाएगा।

हिंदू विरोधी हिंसा का सच दिखाती है ‘द कश्मीर फाइल्स- सुशील मोदी

  राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने सभी से फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स देखने की अपील की है। उन्होंने गुरुवार को जारी बयान में कहा है कि सत्य घटनाओं पर बनी यह फिल्म नई पीढ़ी को अवश्य देखनी चाहिए। पता चलेगा कि जम्मू-कश्मीर में धार्मिक असहिष्णुता के कारण हिंदुओं पर कितना अत्याचार हुआ था।सुशील मोदी ने कहा कि 32 साल पहले जब पाकिस्तानपरस्त लोगों ने कश्मीरी हिंदुओं को घाटी से भागने पर मजबूर करने के लिए हत्या-दुष्कर्म की घटनाओं को अंजाम दिया था। जम्मू-कश्मीर में तब कांग्रेस के समर्थन वाली फारुख अब्दुल्ला की सरकार थी। कांग्रेस आज भी उस घटना  में अपना अपराध स्वीकार कर माफी मांगने के बजाय उस त्रासदी को नकारने या दूसरा रंग देने की कोशिश कर रही है। यही नहीं, कांग्रेस ने अनुच्छेद-370 लगाकर जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद और आतंकी हिंसा को बढ़ावा दिया था।

इसकी चरम परिणति 1989 में हिंदू पंडितों पर सामूहिक अत्याचार के रूप में हुई। यह उस सच को दिखाने वाली फिल्म है, जिसे देश से छिपाया गया। उन्होंने कहा है कि यदि जनसंघ और बाद में भाजपा की मांग पर अनुच्छेद-370 हटा लिया गया होता, तो कश्मीरी हिंदुओं पर इतनी बड़ी विपत्ति नहीं आती। देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ऋ णी रहेगा कि उन्होंने पांच अगस्त, 2019 को यह अनुच्छेद हटाकर कश्मीर में आतंकवाद और हिंदू-विरोधी हिंसा की कमर तोड़ दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.