बिहार के सिवान में खेत से निकल रहीं सरकारी नौकरियां, खेतगांव में सींचे जा रहे हैं देश के होनहार

खबरें बिहार की जानकारी

सिवान जिले में मैरवा प्रखंड का कस्बा लक्ष्मीपुर खेलगांव के रूप जाना जा रहा है। पांच साल पहले यहां रानी लक्ष्मीबाई स्पोर्ट्स एकेडमी खोली गई थी। खेलकूद का निश्शुल्क प्रशिक्षण दिया जाने लगा। प्रशिक्षण लेने में लड़कियां लड़कों से आगे रहीं। खेलकूद के लिए क्रीड़ा मैदान की कमी महसूस हुई तो खेत को समतल बना ‘खेतगांव’ बना दिया। सीमित संसाधन के बावजूद सामूहिक प्रयास से लक्ष्य हासिल करने का यह बेहतर उदाहरण है। आज जिले की दर्जनों महिला खिलाड़ी खेल कोटे से सामाहरणालय, रेलवे, फौज व पुलिस में सेवा दे रही हैैं। खेल प्रतियोगिताओं में जिले से लेकर राज्य व देश-विदेश तक नाम रोशन कर रही हैं। एकेडमी के प्रशिक्षक संजय पाठक पेशे से शिक्षक हैं और अपनी आधी कमाई खेलकूद के उपकरण पर खर्च कर रहे हैं।

कोई बीएमपी तो कोई एसएसबी में कर रहीं नौकरी

2016 में चौभरिया निवासी हैंडबाल खिलाड़ी प्रशंसा कुमारी और 2019 में गड़ेरिया की एथलीट नेहा कुमारी को बिहार मिलिट्री पुलिस (बीएमपी) में सिपाही की नौकरी मिली। इनको वर्दी में देख साथी खिलाड़‍ियों के हौसले बढ़े। एकेडमी से प्रशिक्षित मैरवा प्रखंड के धरहरा की एथलीट धर्मशीला ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में बेहतर कर दिखाया। इन्हें 2017 में खेल कोटे से एसएसबी में नौकरी मिली। वह अभी सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल) में पदस्थापित हैं। फुटबाल की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी गोपाल चक की तारा खातून को भारतीय रेल भुवनेश्वर (उड़ीसा) में खेल कोटे से क्लर्क की नौकरी मिली। 2019 मे हैंडबाल खिलाड़ी मैरवा धाम की राधा कुमारी समाहरणालय में क्लर्क हैैं। इसी वर्ष एथलीट गड़ेरिया निवासी प्रज्ञा कुमारी को बिहार पुलिस में जगह मिली। दिसंबर 2021 हैंडबाल खिलाड़ी मैदनिया की खुशबू कुमारी और बभनौली की सुमन कुमारी ने बिहार पुलिस के लिए ट्रायल दिया है।

कई यूनिवर्सिटियों में खेल कोटे से नामांकन, विवि टीम में भी जगह मिली

रानी लक्ष्मीबाई स्पोर्ट्स एकेडमी की कई खिलाड़‍ियों का विश्वविद्यालयों में खेल कोटे से नामांकन हुआ और विवि टीम में भी जगह मिली। 2021-22 में खेल कोटे से दाखिला लेकर लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय पंजाब की फुटबाल टीम में मैरवा कुम्हार टोली की बेबी कुमारी और सुमेरपुर की निशा कुमारी को जगह मिली। पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर (उत्तर प्रदेश) की हैंडबाल टीम में मैरवा की सात खिलाड़‍ियों खुशबू यादव, खुशबू कुमारी, निभा कुमारी, चंदा कुमारी, गायत्री कुमारी, रागिनी कुमारी और सुमन कुमारी को जगह मिली। खिलाड़‍ियों ने ईस्ट जोन चैंपियनशिप गोल्ड मेडल हासिल किया। अंतर विश्वविद्यालय हैंडबाल राष्ट्रीय चैंपियनशिप भी खेलीं। इसी साल बाबा साहेब डा. भीमराव आंबेडकर बिहार विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर की फुटबाल टीम में पल्लवी कुमारी, चंपा कुमारी और नीरज कुमारी गोड़ को जगह मिली।

नामांकन      नौकरी पाने वाली खिलाड़ी

 

2016-17       50                01

2017-18       60                02

2018-19       65                01

2019-20                        01

2020-21                        01

2021-22     85                 02 (परिणाम आना है)

नोट :- 2019-20 और 2020-21 में कोरोना लाकडाउन के कारण नामांकन स्थगित रहा

रानी लक्ष्मीबाई स्पोर्ट्स एकेडमी लक्ष्मीपुर, मैरवा (सिवान) के मुख्य प्रशिक्षक सह संचालक संजय पाठक कहते हैं कि एकेडमी में प्रशिक्षित दर्जनों खिलाड़‍ियों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल मिला है। विश्वविद्यालयों में कई को खेल कोटे से नामांकन मिला है तो कई ने खेल कोटे से नौकरी हासिल की है। प्रयास है सिलसिला जारी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.