बिहार के मधेपुरा में पूजा का प्रसाद खाने के बाद एक की मौत, कई लोग बीमार

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के मधेपुरा में प्रसाद खाने से एक शख्स की मौत होने और कई लोगों के बीमार होने की खबर है। मामला गम्हरिया थाना क्षेत्र की चिकनी फुलकाहा पंचायत के खार गांव में वार्ड 11 का है। यहां विश्वकर्मा पूजा के दिन प्रसाद खाने से बीमार एक व्यक्ति की मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि प्रसाद खाने से गांव के 17 लोगों के बीमार होने की बात कही जा रही है। गांव के लोग सहमे हुए हैं।

थाना अध्यक्ष त्रिलोकी नाथ शर्मा ने बताया कि गम्हरिया थाना क्षेत्र के खार गांव के वार्ड 11 में बिलट शर्मा के यहां विश्वकर्मा पूजा के दिन भोज का आयोजन किया गया था। भोज खाने के बाद लोग अपने-अपने घर चले गए। बताया जा रहा है कि जिन लोगों ने दही खाया था उनकी तबीयत खराब हुई थी। बीमार बद्री शर्मा (55) की सोमवार की रात मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। एक व्यक्ति की मौत होने की सूचना पर मंगलवार को थाना अध्यक्ष त्रिलोकी नाथ शर्मा खार गांव पहुंचे। उन्होंने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

इस दौरान ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि प्रसाद खाने से गांव के 17 लोग बीमार हुए थे जिसमें एक की मौत हो गई। कुछ लोग इलाज के बाद ठीक हो गए। कुछ लोगों का अलग- अलग निजी नर्सिंग होम में इलाज किया जा रहा है। थाना अध्यक्ष ने बताया कि गौतम कुमार (8), प्रियांशु कुमारी (8), राजेश शर्मा (30), खेलन शर्मा (60), प्रिंस कुमार (5) श्याम कुमार (10), गौतम कुमार (7), जलेश्वर शर्मा (45), आयुष कुमार (6), छोटे लाल शर्मा (45), दिनेश पासवान (40), राजकुमार साह (55), कपिल शर्मा (35), आयरन कुमार (8), आदित्य कुमार (4) और अनु कुमारी (10) के बीमार होने की बात कही गई है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉ. अंजनी कुमार ने बताया कि फूड प्वाइजनिंग से पीड़ित एक व्यक्ति को भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान सोमवार को उनकी मौत हो गयी। फूड प्वाइजनिंग का कोई और मरीज भर्ती नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजा जाएगा गांव  

गम्हरिया पीएचसी प्रभारी डॉ. अभिषेक कुमार ने बताया कि थाना क्षेत्र की चिकनी फुलकाहा पंचायत के खार गांव के वार्ड 11 में फूड प्वाइजनिंग से लोगों के बीमार होने के संबंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। गांव से कोई भी मरीज पीएचसी में नहीं आया है। गांव के लोगों द्वारा भी इस संबंध में पीएचसी को कोई सूचना नहीं दी गयी है। बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.