बिहार के घोड़ों ने यूपी में बिखेरा जलवा, ददरी मेले में ‘मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस’ बना ‘चेतक’

प्रेरणादायक

महर्षि भृगु की तपोस्थली यूपी के बलिया में लगने वाले ऐतिहासिक ददरी मेले में चेतक प्रतियोगिता बुधवार को हुई। इसमें बिहार के घोड़ों का दबदबा रहा। प्रथम चार स्थानों पर उन्होंने ही कब्जा जमाया। करीब 27 घोड़ों को पछाड़कर मुजफ्फरपुर (बिहार) के अजय कुमार के घोड़े ‘मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस’ ने चेतक प्रतियोगिता का खिताब अपने नाम कर लिया।

अजय के ही जिले के एक अन्य घोड़े राजू ने दूसरा और पटना के घोड़े बागी ने तीसरा स्थान हासिल किया। बक्सर के घोड़ा राकेट को चौथा स्थान मिला और उसे सांत्वना पुरस्कार दिया गया। मुख्य अतिथि बलिया के सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने विजेता घोड़ों के घुड़सवारों को साफा बांधकर व शील्ड देकर सम्मानित किया।

ददरी मेला के नंदी ग्राम व मीना बाजार के बीच पहले से तैयार मैदान पर बुधवार को दोपहर बाद चेतक प्रतियोगिता की शुरुआत हुई। नपा द्वारा पंजीकृत करीब 28 घोड़ों ने प्रतियोगिता में भाग लिया। प्रथम चक्र में शामिल करीब सात घोड़ों को हरी झंडी दिखाकर मुख्य अतिथि सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने प्रतियोगिता की शुरुआत की। चार चक्र की प्रतियोगिता के हर चक्र में सात घोड़े शामिल हुए। हर चक्र में मैदान का तीन चक्कर लगाने के बाद प्रथम व द्वितीय स्थान पाने वाले घोड़ों ने फाइनल में अपना स्थान सुरक्षित कर लिया। 

फाइनल मुकाबला में पहुंचे आठ में से केवल पांच ने दौड़ लगायी। फाइनल मुकाबला के लिये चार चक्कर को पूरा करने के बाद बिहार के मुजफ्फरपुर के घोड़े मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस ने पहला तथा राजू ने दूसरा स्थान हासिल किया। तीसरे स्थान पर बिहार के पटना के विवेक पहलवान का घोड़ा बागी रहा। बक्सर निवासी मुन्ना सिंह के घोड़ा राकेट को चौथा स्थान मिला।

निर्णायक मंडल में सुरेंद्र यादव, राधेश्याम सिंह व अनिल सिंह शामिल थे। कमेंट्री लक्ष्मीसागर पांडेय ने की। इस दौरान सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार, चेयरमैन अजय कुमार, कन्हैया सिंह, ईओ डीके विश्वकर्मा, राघव मिश्र, अजय कुमार आदि थे।

ददरी मेला के नंदी ग्राम व मीना बाजार के बीच पहले से तैयार मैदान पर बुधवार को दोपहर बाद चेतक प्रतियोगिता की शुरुआत हुई। नपा द्वारा पंजीकृत करीब 28 घोड़ों ने प्रतियोगिता में भाग लिया। प्रथम चक्र में शामिल करीब सात घोड़ों को हरी झंडी दिखाकर मुख्य अतिथि सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने प्रतियोगिता की शुरुआत की। चार चक्र की प्रतियोगिता के हर चक्र में सात घोड़े शामिल हुए। हर चक्र में मैदान का तीन चक्कर लगाने के बाद प्रथम व द्वितीय स्थान पाने वाले घोड़ों ने फाइनल में अपना स्थान सुरक्षित कर लिया। 

 

फाइनल मुकाबला में पहुंचे आठ में से केवल पांच ने दौड़ लगायी। फाइनल मुकाबला के लिये चार चक्कर को पूरा करने के बाद बिहार के मुजफ्फरपुर के घोड़े मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस ने पहला तथा राजू ने दूसरा स्थान हासिल किया। तीसरे स्थान पर बिहार के पटना के विवेक पहलवान का घोड़ा बागी रहा। बक्सर निवासी मुन्ना सिंह के घोड़ा राकेट को चौथा स्थान मिला।

निर्णायक मंडल में सुरेंद्र यादव, राधेश्याम सिंह व अनिल सिंह शामिल थे। कमेंट्री लक्ष्मीसागर पांडेय ने की। इस दौरान सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार, चेयरमैन अजय कुमार, कन्हैया सिंह, ईओ डीके विश्वकर्मा, राघव मिश्र, अजय कुमार आदि थे।

 

ददरी मेला के नंदी ग्राम व मीना बाजार के बीच पहले से तैयार मैदान पर बुधवार को दोपहर बाद चेतक प्रतियोगिता की शुरुआत हुई। नपा द्वारा पंजीकृत करीब 28 घोड़ों ने प्रतियोगिता में भाग लिया। प्रथम चक्र में शामिल करीब सात घोड़ों को हरी झंडी दिखाकर मुख्य अतिथि सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने प्रतियोगिता की शुरुआत की। चार चक्र की प्रतियोगिता के हर चक्र में सात घोड़े शामिल हुए। हर चक्र में मैदान का तीन चक्कर लगाने के बाद प्रथम व द्वितीय स्थान पाने वाले घोड़ों ने फाइनल में अपना स्थान सुरक्षित कर लिया। 

 

फाइनल मुकाबला में पहुंचे आठ में से केवल पांच ने दौड़ लगायी। फाइनल मुकाबला के लिये चार चक्कर को पूरा करने के बाद बिहार के मुजफ्फरपुर के घोड़े मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस ने पहला तथा राजू ने दूसरा स्थान हासिल किया। तीसरे स्थान पर बिहार के पटना के विवेक पहलवान का घोड़ा बागी रहा। बक्सर निवासी मुन्ना सिंह के घोड़ा राकेट को चौथा स्थान मिला।

निर्णायक मंडल में सुरेंद्र यादव, राधेश्याम सिंह व अनिल सिंह शामिल थे। कमेंट्री लक्ष्मीसागर पांडेय ने की। इस दौरान सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार, चेयरमैन अजय कुमार, कन्हैया सिंह, ईओ डीके विश्वकर्मा, राघव मिश्र, अजय कुमार आदि थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *