बिहार का कश्मीर है नवादा का ये वॉटर फॉल, कभी पांडवों ने ली थी यहां शरण

इतिहास
इसी दौरान पांडवों को भगवान कृष्ण का दर्शन हुआ था। इस क्षेत्र में कोल जाति के लोग निवास करते थे जिसके कारण इस जगह का नाम ककोलत पड़ा।