‘बिहारी टैलेंट’ ने फिर से मचाई धूम, टॉप टेन में बनाई जगह !

प्रेरणादायक बिहारी जुनून

देश की सबसे प्रतिष्ठित यूपीएससी की परीक्षा में एक बार फिर से बिहारी प्रतिभा ने अपना लोहा मनवाया है. बक्सर के अतुल प्रकाश ने जहां 4था रैंक पाकर टॉप फाइव में जगह बनाई तो वहीं बड़ी संख्या में बिहारी अभ्यर्थियों ने अच्छा रैंक पाया है.

रेलवे इंजीनियर के बेटे अतुल प्रकाश को चौथा रैंक मिला तो

सहरसा जिले के चैनपुर के सागर कुमार झा ने 13वां और

पटना की ही बेटी अभिलाषा अभिनव ने 18वां स्थान पाकर बिहारी मेधा का परिचय दिया है.

यूपीएससी द्वारा जारी सूची में मुंगेर के अविनाश ने 139वां,नवादा के मयंक मनीष ने 214वां, भागलपुर के मोतिउर्रहमान ने 154वां, रविकेश त्रिपाठी को 334वां, गया के अमृतेश को 363वां रैंक, कहलगांव की ज्योति को 53वां, भागलपुर के सौरभ डोकानिया ने 389वां, बेगूसराय के योगेश गौतम को 172वा रैंक मिला है.

अतुल प्रकाश ने जहां दूसरे प्रयास में यह मुकाम हासिल किया वहीं आईआईटीयन सागर कुमार झा को इस बार की परीक्षा में 13वां रैंक मिला. पटना की अभिलाषा जिन्हें 18वां रैंक मिला है वो रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी की बेटी हैं और राजस्व सेवा में चुनी जा चुकी हैं. पूर्णिया के समीर सौरव ने 142 वां, पटना के ही रविकेश त्रिपाठी को 334वां रैंक बेगूसराय के योगेश गौतम ने 172वां, गया के अमृतेश कुमार ने 363वां, मोतिहारी के अविनाश चंद्र शाडिल्य ने 391वां, जमुई के सुमीत ने 493वां, मधुबनी के रतन कुमार झा ने 408 वां और संपतचक के बीडीओ के बेटे नीतीश ने 671वां स्थान पाया है.

मालूम हो कि बिहार के काफी छात्र दिल्ली-इलाहाबाद जैसे शहरों में रहकर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करते हैं. देश के ब्यूरोक्रेसी में भी बिहार के अफसरों का दबदबा है और हर साल बिहार के प्रतिभागी छात्र देश की इस सबसे बहु प्रतिष्ठित परीक्षा में सफलता हासिल करते हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक देश के आईएएस अधिकारियों में लगभग 10 फीसदी बिहार से ही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.