राजनीति से परे है बिहार, इसलिए आया है विकास का बहार!!

खबरें बिहार की

नीतीश से मिले चिदानंद सरस्वती, गंगा स्वच्छता पर विमर्शनीतीश से मिले चिदानंद सरस्वती, गंगा स्वच्छता पर विमर्शपरमार्थ निकेतन ऋषिकेश के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती ने बुधवार देर शाम मुख्यमंत्री से भेंट की। दोनों के बीच गंगा तटों पर हरित गलियारा और जैविक खेती पर चर्चा हुई।

परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के परमाध्यक्ष और ग्लोबल इंटरफेथ वाश एलायंस के सह संस्थापक स्वामी चिदानंद सरस्वती ने बुधवार देर शाम मुख्यमंत्री से भेंट की। इस दौरान स्वामी चिदानंद ने गंगा की वर्तमान स्थिति पर चर्चा की। उन्होंने गंगा के तटों पर स्वच्छता के साथ हरित गलियारा और जैविक खेती के बारे में मुख्यमंत्री से विस्तारपूर्वक विमर्श किया। मुख्यमंत्री को उन्होंने गंगा एक्ट की कॉपी और रुद्राक्ष का पौधा भेंट किया।

स्वामी चिदानंद ने मुख्यमंत्री को यह जानकारी दी कि जीवा, गंगा एक्शन परिवार और अन्य संस्थाएं दो लाख पौधों को लगाने जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गंगा के दोनों तटों पर हरित गलियारा, हरित शवदाह गृह, जैविक खेती और वृक्षारोपण के माध्यम से प्रदूषण को कम करना संभव हो सकता है।

गंगा के किनारे स्थित गांवों व शहरों को खुले में शौच से मुक्त कराना बहुत ही आवश्यक है। इस क्रम में स्वामी सरस्वती ने गंगा एक्शन परिवार एवं ग्लोबल इंटरफेथ वाश एलायंस द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता अभियान तथा कार्यशालाओं की भी जानकारी दी।

 

स्वामी चिदानंद ने कहा कि भावी पीढ़ी को सुरक्षित एवं स्वस्थ रखने के लिए सभी को वृक्षारोपण की संस्कृति को धारण करना होगा। मुख्यमंत्री ने हरित गलियारे तथा जैविक खेती की योजना की सराहना करते हुए कहा कि इस पर विस्तृत चर्चा के लिए वे ऋषिकेश जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.