बिहार की माअी प्रतिभाओं की धनी रही है. ये बात समय—समय पर प्रूफ होती रही है. इस बार भी बिहार की एक बेटी ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है. ये लड़की बिहार के मुजफ्फरपुर जिसे की रहनेवाली शालिनी प्रसाद हैं. शालिनी की हाल हीं में दो डॉक्यूमेंट्री वीडियो को यएन में होने वाले ग्लोबल यूथ कंपटीशन के लिए चुनी गई है. आपको बता दे कि इस प्रोग्राम को UN क्लाईमेंट चेंज, ग्लोबल एनवायरनमेंट फैसिलिटी स्मॉल ग्रांट प्रोग्राम (GEF—SEF) संग मिलकर को—ऑर्गेनाइज कर रहा है.

कंपटीशन को टेलीवीज़न फॉर एनवायरनमेंट के जरिए आयोंजित किया जा रहा है
जानाकारी के अनुसार ये प्रोग्राम यूनाईटेड नेशन डेवलपमेंट प्रोग्राम (UNDP) और कनेक्ट4क्लाइमेट ने इस कंपटीशन को BNP परीबास फाउंडेशन और यूथ नॉन गवरमेंटल ऑर्गेनाइजेशन संग मिलकर इसे लागू किया है. इस कंपटीशन को टेलीवीज़न फॉर एनवायरनमेंट के जरिए आयोजित किया जा रहा है. इस कंपटीशन में शालिनी की दो वीडीयों को सिलेक्ट किया गया है. आपको बतादे कि शालिनी की उम्र महज 23 साल है. उन्होंने इस कंपटीशन में को लेकर उन्होंने दो इंट्रीज मे अपने आवेदन किए थे.

शालिनी के दो वीडियोज हुए हैं सिलेक्ट
आपको बता दे कि इस कंपटीशन में आवेदन करने को लेकर आवेदन करनेवालों के लिए 18 वर्ष से लेकर 30 वर्ष तक की समय सीमा तय की गई थी. इसके साथ ही इस कंपटीशन के लिए दिए गए थीम के उपर 3 से 4 मिनट की एक वीडियों रिर्काड करके भेजना था.इस कंपटीशन का मुख उदेश्य युवाओ को यूएन के क्लाइमेट चेंज टीम में रिपोटरोें के रुप में युवाओं को काम करने का मौका देना था. इसमें युवा अपनी रिपोर्ट को वीडियो, आर्टिकल और सोशल मीडिया पोस्ट के रुप में भेज सकते थे.

इतने बड़े प्लेटफॉर्म में अपने दो वीडियोज के सिलेक्ट होने को लेकर शालिनी ने कहा कि ये मेंरे लिए जरूर एक बड़ी अचीवमेंट है. उन्होंने बताया कि उनकी दो डाक्यूमेंट्री को इस कंपटीशन में एंट्री मिली है. उन्होंने बताया की उनकी एक वीडियो आॅगेनिक फार्मिग को लेरक है जो 2 मिनट 45 सेंकेट की है वहीं दूसरी वीडियो3 मिनअ की है जो डिजास्टर और उसके डूरेशन पर अधारित है.

3 से 4 घंटे के शूट को 3 मिनट के वीडियो में समेंटना काफी टफ टास्क
शालिनी ने बताया की उन्होंने ये दोनों वीडियो लखीसराय खेरी में शूट की है. उन्होंने वहां 3 से 4 घंटे में मिनट में ये वीडियो शूट किए हैं. उन्होंने कहा कि वहां उन्होंने आॅर्गेनिक फार्मिग को लेकर वीडियो शूट किया है.शालिनी बताती हैं कि 3 से 4 घंटे के शूट को 3 मिनट के वीडियो में समेंटना अपने आप में एक टफ टास्क है.

उन्होंने कहा कि वीडियो को एडीट करते समय इस बात का मैंने खास खास ध्यान रखा की वीडियो अपने मूल से न हट जाए. वही उन्होंने बताया कि डिजास्टर मैनेजमेंट की वीडियो उन्होंने बहराइच में शूट की थी. उन्होंने कहा कि वहां बहुत से आर्गेनाजेशनों ने लोगो को इस बारे में ट्रेनिंग दी है कि कैसे बाढ़ या अन्य अपदा आने के वक्त वे कुछ ही मिनटो में गांव से दूर निकल सकते हैं.

शालिनी अभी फिलहाल मुजफ्फरपुर के बीआर अम्बेदकर विश्वविधालय से मास कम्यूनिकेशन की पढाई कर रहीं हैं. इस कंपटीशन में अगर शालिनी जितती हैं तो तो उनके बीडियो को दिसंबर में पोलैंड के कोटोवाइस में कांफ्रेंस आॅफ पार्टीज में दुनिया भर के आडियंस को दिखाई जाएगी. इसके साथ ही जीतने वाले कंडिडेट को यूएन के क्लाइमेट चेंज की टीम के साथ काम करने का मौका मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here