बिहार आने के लिए अधिकतर ट्रेनों में छठ तक वेटिंग, कुछ ट्रेनें दिसंबर तक फुल, जानिये क्या है आप्शन 

जानकारी

त्योहारी सीजन आते ही पटना आने वाली ट्रेनों में टिकटों की प्रतीक्षा सूची लंबी होने लगी है। दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू जैसे रेल रूटों की ट्रेनों में कन्फर्म टिकटों का टोटा है। बुकिंग के हाल को इसी से समझा जा सकता है कि सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस में अगर आप स्लीपर में कन्फर्म टिकट चाह रहे हैं तो एक दिसम्बर से पहले नहीं मिलेगा। दशहरा से लेकर छठ के बाद तक इस ट्रेन में भारी वेटिंग है।

श्रमजीवी एक्सप्रेस में अभी से कन्फर्म टिकट मिलना मुश्किल है। इसमें 15 अक्टूबर से स्लीपर में आरएसी है जबकि 14 अक्तूबर से थ्री एसी में आरएसी है। एक हफ्ते की सहूलियत कब बाद फिर से इस ट्रेन में दिवाली और छठ की लंबी प्रतीक्षा सूची है। बंगलुरू पटना रूट की सबसे महत्वपूर्ण ट्रेन संघमित्रा का हाल और बुरा है। इस ट्रेन में अभी से लेकर छठ तक भारी प्रतीक्षा सूची है। इस ट्रेन में सीधा नौ नवम्बर को थ्री एसी में आरएसी टिकट मिल रही है जबकि स्लीपर में आरएसी टिकट के लिए 19 नवंबर तक का इंतजार करना होगा।

 

मुंबई से आने वाली दोनों महत्वपूर्ण ट्रेनों का हाल बुरा है। ट्रेन नम्बर 02141 में 11 अक्टूबर से थ्री एसी में आरएसी टिकट मिल रहा है लेकिन 23 अक्टूबर के बाद छठ तक लंबी प्रतीक्षा सूची है। वहीं ट्रेन संख्या 03202 में दशहरे में टिकट उपलब्ध है लेकिन दिवाली और छठ की भीड़ 27 अक्टूबर से ही शुरू हो जा रही है। इस ट्रेन में स्लीपर में 25 अक्टूबर से जबकि 3एसी में 27 से भारी वेटिंग लिस्ट है।

क्या है आप्शन

ऐसे में आप बिहार आना चाहते हैं और अभी तक रिजर्वेशन नहीं कराया है तो आपके पास सीमित आप्शन हैं। आपको रेल मंत्रालय की ओर से घोषित होने वाले त्योहारी ट्रेनों पर नजर रखनी होगी। अक्सर होता है कि ट्रेन की घोषणा के साथ ही बुकिंग फुल हो जाती है। इसके अलावा दशहरा पर आने के लिए तेजस व हावड़ा-दानापुर स्पेशल में जगह है। दशहरा में दिल्ली से पटना आ रहे लोगों के लिए अभी टिकट उपलब्ध है। इसमें 29 अक्टूबर के बाद भारी वेटिंग लिस्ट है। वहीं हावड़ा से पटना आ रहे लोगों के लिए भी समस्या ज्यादा नहीं है। इसमें अभी से अगले 15-20 दिनों तक ट्रेन संख्या 02351 में टिकटें उपलब्ध है।

 

पैसेंजर ट्रेनों की कमी से मारामारी की आशंका

लंबी दूरी की ट्रेनों में टिकट की किल्लत के साथ साथ पैसेंजर ट्रेनों की कमी से त्योहारी सीजन में परेशानी और बढ़ेगी। रेलवे ने कोरोना काल के दौरान कई रूटों पर ट्रेनों की संख्या काफी घटा दी थी। सबसे व्यस्त पैसेंजर रूट पटना गया रूट में सामान्य दिनों में 11 जोड़ी ट्रेनें चल रही थीं। अभी इस रूट पर मात्र चार जोड़ी ट्रेन चल रही है। त्योहारों में पटना से इस रूट पर यात्रियों को काफी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *