बिहार में सड़कों के लिए केंद्र ने खोला खजाना: पटना, जहानाबाद, बक्‍सर, छपरा और गया जिले को फायदा

खबरें बिहार की जानकारी

केंद्र और बिहार में एक ही गठबंधन की सरकार होने का फायदा राज्‍य की सड़क योजनाओं को खूब मिल रहा है। बिहार में नेशनल हाइवे की योजनाओं के लिए राशि उपलब्‍ध कराने, भूमि अधिग्रहण और निर्माण कार्य की गति बढ़ी है। इधर, नेशनल हाइवे से इतर बड़ी सड़कों के निर्माण के लिए भी केंद्र से फंड मिला है। सीआरएफ योजना के अंतर्गत केंद्र ने बिहार के लिए 872 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान की है। इस राशि से एक दर्जन सड़क परियोजनाओं पर काम होगा। इस आशय की जानकारी बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने दी।

बड़ी जिला सड़कों का होगा निर्माण 

पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि सीआरएफ के तहत उपलब्ध कराई गई राशि से मेजर डिस्ट्रिक्ट रोड तथा नई सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। मेजर डिस्ट्रिक्ट रोड के लिए सीआरएफ से 82.693 किमी सड़क तथा नए बाइपास निर्माण की योजना स्वीकृत की गई है। बाइपास निर्माण के तहत 38.1 किमी सड़क बनेगी। वहीं मेजर डिस्ट्रिक्ट रोड पर 494.15 करोड़ रुपये की राशि खर्च होगी। नए बाइपास के निर्माण पर 378.84 करोड़ खर्च होने हैैं।

  • सीआरएफ योजना के अंतर्गत एनएच से अलग सड़क निर्माण में मिलेगी मदद
  • जिला रोड और बड़ी सड़कों के लिए केंद्र ने 872.52 करोड़ रुपए स्वीकृत किए
  • केंद्र की उपलब्ध कराई गई राशि से 12 सड़क योजनाओं पर काम होगा

 

पथ निर्माण मंत्री ने बताया कि जिन योजनाओं को स्वीकृति दी गई है उनमें मीठापुर-खगौल मेन रोड से बीडी कालेज रोड होते हुए गौरिया मठ पथ से मीठापुर बी एरिया पथ, मीठापुर एनएच 30 रोड एवं लिंक रोड, मैरवा-धरौली रोड, इटाढ़ी-धनसोई रोड, जहानाबाद बाइपास, निधि चौक से रेलवे स्टेशन महावीर मंदिर चौक, गया शहर में एनएच-83 का शेष हिस्सा बनाया जाना है।

इसके अलावा इस योजना में रिविलगंज से बिशुनपुरा बाइपास, अमनौर बाइपास, परसा बाइपास रोड, आरसीसी ब्रिज, अखाड़ा घाट के समीप, छितनावां-उसरी (दानापुर-शिवाला पथ) व गरखा बाइपास रोड शामिल है। पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि  सड़क निर्माण के क्षेत्र में बिहार पर नजर रखने के लिए वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हैैं। केंद्र सरकार के सहयोग से बिहार में सड़कों के निर्माण में तेजी आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.