बड़ी खबर: राहुल गांधी और कांग्रेस को नीतीश ने दिया बड़ा झटका, 2019 लोकसभा चुनावों में…

राष्ट्रीय खबरें

पटना: जेडीयू एनडीए में रहेगी या नही इसको लेकर अटकलों का बाजार गरम है और दिल्ली के बिहार भवन में जेडीयू के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिनों की बैठक चल रही है। इस बीच जेडीयू ने ये साफ कर दिया है कि वह एनडीए से बाहर नहीं जाएगी, बल्कि एनडीए को मज़बूत करेगी।

जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव और प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि 2019 के आम चुनावों में एनडीए राज्य के 40 सीटों में 38 सीट पर जीत हासिल करेगी। हालांकि लोकसभा चुनाव में सीटों को लेकर एनडीए के सभी घटकों बीजेपी, जेडीयू, एलजेपी और आरएलएसपी में खींचतान जारी है।

इसे सुलझाने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 12 जुलाई को पटना जाएंगे। त्यागी ने उम्मीद जताई कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ नीतीश कुमार के बैठक ने सीटों के बंटवारे को लेकर स्थिति साफ हो जाएगी। उनके मुताबिक जेडीयू कार्यकर्ताओं में सीट शेयरिंग को लेकर उत्सुकता है। अब वक्त आ गया है कि हम सीटों के तालमेल का फैसला कर लें।

बिहार का सियासी दांवपेंच सुलझाने के लिए दिल्ली में जुटे जेडीयू के संगठन पदाधिकारियों की बैठक में कार्यकारिणी के बैठक का एजेंडा तय किया गया। इसपर सहमति बनी कि 2019 का चुनाव एनडीए गठबंधन में लड़ा जाएगा। माना जा रहा है रविवार को अपने भाषण में नीतीश कुमार दिल्ली में पार्टी के इस रुख का खुलासा करेंगे।

हालांकि जेडीयू के एजेंडे के मुताबिक पार्टी बिहार को विशेष राज्य का देने की मांग को लेकर अब भी कायम है। केसी त्यागी के मुताबिक बिहार का विशेष सहायता से काम नहीं चलने वाला। उन्होंने कहा कि बिहार को विशेष दर्जे की मांग का मुद्दा हमारे वजूद से जुड़ा हुआ है। हम टीडीपी की तरह एनडीए से बाहर नहीं, बल्कि एनडीए में रहकर विशेष राज्य के दर्जे की लड़ाई लड़ेंगे।

जेडीयू के संगठन पदाधिकारीरियों की बैठक में शामिल होने केसी त्यागी के अलावा ललन सिंह, संजय झा, कौशलेंद्र, विजेंद्र यादव, आरसीपी सिंह, अखिलेश कटियार और गुलाम रसूल बलियावी भी बिहार भवन पहुंचे। पवन वर्मा भी बिहार भवन पहुंचे। बैठक के बाद नीतीश कुमार ने संगठन पदाधिकारियों और पार्टी के कार्यकारिणी के सदस्यों के साथ डिनर भी किया।

Source: News Room Post

Leave a Reply

Your email address will not be published.