बिहार की चर्चित मुखिया रितु जायसवाल का बड़ा निर्णय, अब पंचायत चुनाव नहीं लड़ेंगी

खबरें बिहार की

Patna: बिहार की चर्चित मुखिया रही हैं रितु जायसवाल. कार्यकाल खत्म होने के बाद अभी परामर्शी समिति की अध्यक्ष हैं. सूबे की तमाम पंचायतें अभी परामर्शी समिति के हवाले हैं. लेकिन, जल्द ही पंचायत चुनाव होने वाला है. उम्मीद की जा रही है कि अक्टूबर से नवंबर के पहले सप्ताह तक में पंचायत चुनाव करा लिये जाएंगे. लेकिन इस बार सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया रितु जायसवाल ने पंचायत चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया है.

मिल रही जानकारी के अनुसार, सीतामढ़ी के अंतर्गत आने वाली सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया रितु जायसवाल अब मुखिया का चुनाव नहीं लड़ेंगी. वह मुखिया नहीं बनेंगी. उन्होंने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि अब उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई है. विधानसभा का चुनाव लड़ने के कारण उनके दायित्व का विस्तार हो गया. अब वे केवल सिंहवाहिनी पंचायत की नहीं रहीं. वह परिहार विधानसभा क्षेत्र के अंतगर्त सभी 38 पंचायतों की हो गई हैं. अब उन सबों के प्रति मेरी जवाबदेही बनती है.

ritu-jaiswal-mukhiya-bihar

उन्होंने कहा कि बिहार की राजनीति में अब उन्हें बड़ी भूमिका निभानी है. परिहार विधानसभा क्षेत्र की सभी 38 पंचायतों के लिए हमें कार्य करना है. ऐसे में क्षेत्र के सभी लोगों का ख्याल रखने के लिए इस बार पंचायत चुनाव नहीं लड़ूंगी. वैसे पंचायत तो मेरी आत्मा में बसती है, जिसे मैं कभी भी नहीं छोड़ सकती हूं.

गौरतलब है कि रितु जायसवाल 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में परिहार विधानसभा क्षेत्र से आरजेडी की प्रत्याशी थीं. हालांकि, वे महज 1569 वोट से चुनाव हार गई थीं. इसके बाद भी वे कोरोना काल में लगातार मेहनत कर रही हैं. उन्होंने अपने आवास पर कोविड सेंटर भी खोला था. इसके तहत लोगों की जांच से लेकर दवा तक फ्री में मुहैया कराई जाती थी. इलाकों को भी सेनेटाइज करवाया. रितु जायसवाल को तीन दिन पहले ही आरजेडी ने बड़ी जिम्मेवारी देते हुए प्रदेश प्रवक्ता बनाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.