भूलकर भी इन 5 लोगों को नहीं खाने चाहिए मखाने, सेहत को होते हैं ये नुकसान

खबरें बिहार की जानकारी

 मखाने में मौजूद पोषक तत्वों के कारण लोग इसे व्रत में भी खाना पसंद करते हैं। मखाने में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल, कैल्शियम, मैग्नीशियम और प्रोटीन जैसे कई गुण पाए जाते हैं। इतना ही नहीं मखाने में कैलोरी की मात्रा बहुत कम पाई जाती है। जिसकी वजह से लोग इसे अपनी वेट लॉस जर्नी में भी शामिल करते हैं। सेहत के लिए इतना फायदेमंद होने के बावजूद क्या आप जानते हैं आखिर किन लोगों को मखाना खाने से परहेज करना चाहिए। आइए जानते हैं किन लोगों को मखाना फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है।

 

सेहत से जुड़ी इन समस्याओं के होने पर न खाएं मखाने-
गैस्ट्रिक समस्या: मखाने में फाइबर और प्रोटीन की उच्च मात्रा पाई जाती है, जिसकी वजह से यह पचने में अधिक समय लेता है। ऐसे में अगर आपको गैस्ट्रिक या ब्लोटिंग जैसी पेट से जुड़ी कोई परेशानी हो रही है तो मखाने का सेवन तुरंत बंद कर दें। मखाने का सेवन आपकी समस्या को और बढ़ा सकता है।

किडनी स्टोन: अगर आपको किडनी स्टोन की शिकायत है तो मखाने का सेवन बेहद सीमित मात्रा में या फिर ना ही करें। दरअसल, मखाने में कैल्शियम प्रचूर मात्रा में पाया जाता है। इसका अधिक सेवन करने से शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाएगी और आपके स्टोन का आकार भी बढ़ सकता है।

कॉमन फ्लू: अगर आप कॉमन फ्लू, कोल्ड या डायरिया से जूझ रहे हैं, तो आपको मखानों का सेवन नहीं करना चाहिए। फ्लू में मखानों का सेवन आपकी तबीयत को खराब कर सकता है।

दस्त की समस्या: मखाना में मौजूद फाइबर दस्त पीड़ितों के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। दरअसल, मखाने में मौजूद फाइबर का एक मुख्य काम बाउल मूवमेंट को बेहतर बनाना होता है। ऐसे में जब किसी व्यक्ति को कब्ज की समस्या होती है तो उसे फाइबर रिच फूड खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन अगर आप पहले से ही दस्त से पीड़ित हैं तो मखाने का सेवन न करें। यह आपकी समस्या को और बढ़ा सकता है।

एलर्जी की समस्या: मखाना का ज्यादा सेवन करने से एलर्जी की समस्या हो सकती है। क्योंकि मखाने में स्टार्च मौजूद होता है, जिसके कारण आपके शरीर में भी स्टार्च की मात्रा बढ़ सकती है। ऐसे में मखाना खाने से कुछ लोगों को एलर्जी की समस्या हो सकती है। इसलिए आप मखाने का सेवन सीमित मात्रा में करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.