भारत-नेपाल बॉर्डर पर इसी महीने लौटेगी कारोबार की बहार, कस्टम ऑफिस खुलने से बढ़ेगा रोजगार

खबरें बिहार की जानकारी

भारत-नेपाल सीमा पर एक बार फिर से कारोबार पटरी लौटने वाला है। इसको लेकर दोनों देशों के अधिकारियों की तरफ से कवायद शुरू कर दी गई है। सबकुछ ठीक रहा तो नवंबर के अंत तक कस्टम कार्यालय पूरी तरह से चालू हो जाएगा। इसके बाद नेपाल के व्यवसायी भारत और यहां के कारोबारी नेपाल से बेधड़क कारोबार कर सकेंगे।

पश्चिमी चंपारण जिले में कस्टम प्रिंसिपल कमिश्नर प्रदीप कुमार ने बताया कि कोरोना के कारण दो वर्ष की देरी पहले ही हो चुकी है। इसलिए अब इसको लेकर कोई देरी नहीं की जाएगी। तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। एक इंटरनेशनल कोड होता है जो नेपाल की ओर से नहीं लिया गया था, जिसके कारण कस्टम कार्यालय चालू करने में देर हो रही है।

अब नेपाल की तरफ से इस कोड को ले लिया गया है। नेपाल में भी सेटअप को व्यवस्थित किया जा रहा है, ताकि जल्द काम को शुरू किया जा सके। डिप्टी कमिश्नर मोतिहारी रोहित खरे ने बताया कि कस्टम कार्यालय को चालू करने में आनेवाली तकनीकी समस्याओं को दूर कर लिया गया है।

टेस्टिंग मोड में कस्टम कार्यालय

कस्टम कार्यालय को दो से तीन दिन में टेस्टिंग मोड में आ जाएगा। इसको लेकर कवायद को शुरू कर दी गई है। टेस्टिंग मोड समाप्त होने के साथ ही दोनों देश का कस्टम कार्यालय शुरू हो जाएगा।

कस्टम कार्यालय खुलने से बढ़ेगा रोजगार

दोनों देशों के कस्टम कार्यालय के शुरू होने से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। आयुक्त ने बताया कि कस्टम कार्यालय शुरू होने के बाद से स्थानीय युवाओं को रोजगार तो मिलेगा ही साथ ही व्यापार के अवसर भी बढ़ेंगे। कस्टम कार्यालय केखुलने के बाद से स्थानीय युवाओं के सामने कई आयाम खुलेंगे।

केंद्रीय मंत्री कर सकते हैं उद्घाटन

वाल्मीकिनगर दौरे के दौरान कस्टम आयुक्त ने बताया कि हम लोगों की कोशिश है कि टेस्टिंग मोड के समाप्त होने के साथ ही उसके उद्घाटन की प्रक्रिया भी पूरी कर ली जाय। संभावना है कि नॉर्थ ईस्ट में केंद्रीय वित्त मंत्री के द्वारा एक उद्घाटन होना है, उन्हीं के द्वारा इसका भी उद्घाटन करवाया जाएगा। ऐसा नहीं होने पर किसी अन्य कैबिनेट मंत्री से इसका उद्घाटन करवाया जाएगा। इसको लेकर अधिकारिक स्तर पर कवायद चल रही है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.