भागलपुर में वैक्सीन की एक भी डोज नहीं, कंट्रोल रूम में घनघनाने लगे हैं फोन

खबरें बिहार की जानकारी

जिले में कोरोना वैक्सीन की एक भी डोज नहीं है। जांच भी नहीं हो रही है, लेकिन कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका के कारण लोगों की बेचैनी बढ़ गई है। पिछले तीन दिनों से लोग वैक्सीन लगवाने के लिए सरकारी अस्पतालों में आने लगे हैं। सदर अस्पताल स्थित कंट्रोल रूम के फोन घनघनाने लगे हैं। सुबह से ही लोग कोरोना वैक्सीन की जानकारी के लिए फोन करना शुरू कर दे रहे हैं।

कोरोना की वैक्सीन जब उपलब्ध थी तो उस समय लोग वैक्सीन लेने नहीं आ रहे थे, जबकि सदर अस्पताल के कंट्रोल रूम से लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज या बूस्टर डोज लेने के लिए मैसेज और फोन भी किए जा रहे थे। अब जब कोरोना की आंशका से लोग भयभीत होने लगे हैं तो पिछले तीन दिनों से सदर अस्पताल में भीड़ बढ़ने लगी है। कंट्रोल रूम के कर्मचारी एक ही जवाब दे रहे हैं कि फिलहाल वैक्सीन नहीं है। आने पर सूचना दी जाएगी।

शनिवार को कंट्रोल रूम में बांका के अलावा, मिरजानहाट एवं अन्य मोहल्लों के लोग वैक्सीन लेने के लिए पहुंचे। चूंकि कंट्रोल रूम द्वारा ही उन्हें वैक्सीन लेने की अपील की जा रही थी। इसलिए लोग पहुंच रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि लोग सतर्कता बरतें, खतरे की कोई बात नहीं है। जल्द वैक्सीन उपलब्ध करा दी जाएगी।

  • कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका से लोग हैं भयभीत
  • जानकारी लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग आ रहे अस्पताल
  • कोरोना के मामले कम होने पर बंद कर दी गई थी जांच
  • 23 दिसंबर को 12 काल आई थी कंट्रोल रूम में
  • 24 दिसंबर को 15 लोगों ने काल कर ली जानकारी
  • 05 दिन पूर्व जिले में बंद कर दिया गया था टीकाकरण
  • केस स्टडी-1

    बांका के शिशुपाल शर्मा अपनी पत्नी को वैक्सीन दिलाने के लिए सदर अस्पताल के कंट्रोल रूम में आए थे। पत्नी को कोरोना टीके का दूसरा डोज लेना था। कंट्रोल रूम के कर्मचारी ने कहा कि वैक्सीन नहीं है, वैक्सीन आने पर जानकारी दी जाएगी।

  • केस स्टडी-2

    मिरजानहाट की पलक झा बूस्टर डोज लेने कंट्रोल रूम आई थीं। उन्होंने बताया कि चाची और मां को भी बूस्टर डोज लेना है। कंट्रोल रूम के कर्मचारी ने बताया कि यहां से वैक्सीन मिलने पर जानकारी दी जाएगी।

  •  

    मुख्यालय से पांच हजार वैक्सीन की मांग की गई है। इनमें कोवैक्सीन और कोविशिल्ड दोनों शामिल हैं। एक सप्ताह में वैक्सीन मिलने की उम्मीद है। जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं ली है वे वैक्सीन लेने के लिए बेचैन हैं। – डा. उमेश शर्मा, सिविल सर्जन

  • कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने के निर्देश

    प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में आरटीपीसीआर की जांच की संख्या बढ़ाने का निर्देश सिविल सर्जन ने अस्पताल के प्रभारियों को दिया है। दिए गए मोबाइल मैसेज में यह भी कहा गया है कि अस्पताल में कर्मचारी मास्क पहनकर आएं और दो गज की दूरी बनाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.