दोस्ती के बीच कड़वाहट ला चुका था शराब का धंधा, मिलने के बहाने बुलाकर मार दी गोली

खबरें बिहार की

पटना: शराब सेहत ही नहीं, बल्कि रिश्ते भी बिगाड़ता है. यही हुआ सूरज चौहान के साथ. उसकी हत्या की वजह शराब ही बनी. दरअसल, बुधवार को फुलवारी शरीफ सूरज चौहान की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वारदात के बाद पुलिस ने इसकी जांच शुरू की. जांच के बाद जो बातें सामने आई, वो दंग करने वाली थी.

गुरुवार को पटना के एसएसपी मनु महाराज और उनकी टीम ने इस पूरे मामले का खुलासा कर दिया. दरअसल, सूरज की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि उसी के दोस्त शेखर ने की थी. मिलने के बहाने शेखर ने सूरज को बुलाया था और उसके बाद अपने हाथ से उसे गोली मार दी. वारदात को अंजाम दे आसानी से फरार हो गया.

— साथ में रहते थे सूरज और शेखर

सूरज और शेखर के बीच दोस्ती ऐसी थी कि किराए के एक कमरे में दोनों साथ में रहते थे. साथ मिलकर दोनों शराब बेचने का धंधा करते थे. धंधे के रुपए को लेकर पिछले कुछ​ दिनों से दोनों के बीच कड़वाहट आ गई. दोनों दोस्तों के बीच के रिश्ते सही नहीं थे. ऐसे में शेखर को लगने लगा कि सूरज चौ​हान उसे चीट कर रहा है. इसके बाद ही शेखर ने पेठिया बाजार के रहने वाले अपने एक साथी सुरेंद्र महतो से कांटैक्ट किया. सुरेंद्र की मदद से सूरज की हत्या की प्लानिंग हुई.

फिर पेठिया बाजार के ही रहने वाले रंजीत कुमार से हथियार के लिए कांटैक्ट किया गया. रंजीत ने पिस्टल उपलब्ध भी करा दिया. इसके बाद ही धोखा देकर सूरज को मिलने के लिए शेखर ने बुलाया और उसे गोली मार दी. पुलिस ने इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से पिस्टल, 7 गोली, एक मैगजीन और एक लोडेड देशी पिस्टल बरामद किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.