तेलंगाना में रिस्वत लेने की एक ऐसी घटना सामने आई है जिससे पूरा पुलिस महकमा श’र्मसार हो गया। तेलंगाना में एक पुलिसकर्मी को रिश्वत लेते पकड़ा गया पर इसमें बड़ी बात यह थी कि उसे को 15 अगस्त को ही ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ का अवॉर्ड दिया गया था। पल्ले थिरुपति रेड्डी महबूबनगर के I-टाउन में कॉन्स्टेबल के रूप में तैनात हैं. रेड्डी को स्वतंत्रता दिवस पर आबकारी मंत्री वी श्रीनिवास गौड ने सम्मानित किया था। इस मौके पर जिला पुलिस अधीक्षक राम राजेश्नवरी भी मौजूद थे।

आपको बता दे की स्वतंत्रता दिवस के दिन अवॉर्ड पाने के बाद इस कांस्टेबल की खूब चर्चा हो रही थी। अवार्ड पाने के एक दिन बाद ही ये पुलिसकर्मी दोबारा मीडिया की सुर्खियों में आ गया है। एंटी करप्शन ब्यूरो ने उन्हें 17,000 रुपये कैस रिश्वत के रूप में लेते हुए पकड़ा है। बताया जा रहा है कि पुलिस अधिकारी ने एक शख्स के खिलाफ केस दर्ज नहीं करने के लिए घूस लिए थे।

रमेश नाम के एक शख्स के इस पुलिस कांस्टेबल के खिलाफ शिकायत की थी। साथ में रमेश ने यह भी दावा किया है कि पुलिसकर्मी उस पर लगातार रिस्वत देने के लिए दबाव भी बना रहा था। शिकायतकर्ता ने मीडिया को बताया कि उसके पास बालू का ट्रांसपोर्ट करने के लिए जरूरी कागजात थे, इसके बावजूद उससे घूस मांगा जा रहा था।

यह एक बड़ा सवाल है कि देश में अगर पुलिस ही आम लोगों को प’रेशान करेगी तो फिर जनता को कौन गुं’डों और माफि’याओं से बचाएगा।

15 अगस्त के दिन मिला ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ का अवॉर्ड, अगले दिन रिश्वत लेते पकड़ा गया पुलिसकर्मी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here