‘बेलगाम’ सुधाकर पर राजद गंभीर, तेजस्वी यादव बोले- सिर्फ लालू यादव और मुझे बोलने का हक

खबरें बिहार की जानकारी

सरकार के विरूद्ध बोल कर मंत्री पद गंवा चुके राजद विधायक सुधाकर सिंह पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए अनुशासनिक कार्रवाई हो सकती है। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि बीमार रहने के बावजूद यह मामला पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के संज्ञान में है। कोई विधायक अगर महागठबंधन के नेतृत्व के बारे में कुछ आपत्तिजनक टिप्पणी करता है तो इसका अर्थ है कि वह भाजपा की नीतियों का समर्थन कर रहा है। तेजस्वी मंगलवार को यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजद के राष्ट्रीय अधिवेशन में यह निर्णय हुआ था कि महागठबंधन की नीतियों के बारे में लालू प्रसाद बोलेंगे या मैं बोलूंगा। इस पर किसी तीसरे को बोलने का अधिकार नहीं है।

तेजस्वी यादव पर जदयू का दबाव

मालूम हो कि सुधाकर सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को वाचमैन कहा था। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने इस पर सोमवार को आपत्ति की। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव ऐसे विधायकों को रोकें। ये उनके लिए भी श्रेयस्कर नहीं हैं। अगले दिन तेजस्वी की प्रतिक्रिया आ गई। जदयू के कई नेताओं ने आरोप लगाया कि सुधाकर पहले भाजपा में थे। वह आज भी भाजपा के एजेंडा पर काम कर रहे हैं। सुधाकर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद के पुत्र हैं। सरकार की आलोचना करने के कारण ही उन्हें कृषि मंत्री पद से त्याग पत्र देना पड़ा था।

भारत जोड़ो यात्रा को लेकर नहीं दिया जवाब

तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री पांच जनवरी से यात्रा पर निकल रहे हैं। अच्छी बात है। इस क्रम में विकास योजनाओं की कार्यान्वयन की स्थिति देखेंगे। लोगों से मिलेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की इस टिप्पणी पर कि बिहार में जंगलराज है, तेजस्वी ने कहा कि बेचारे के पास बोलने के लिए कुछ नहीं है। असल में भाजपा डरी हुई है। इसलिए उसके नेता कुछ भी बोल रहे हैं। हालांकि, राजद नेता इस प्रश्न का उत्तर टाल गए कि क्या वह भी राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.