उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे के बाद लापता हुए बिहार के बेगूसराय का इंजीनियर, ढूंढने के लिए निकले परिजन

खबरें बिहार की

Patna: इंजीनियर मनीष कुमार हरिद्वार में जोशीमठ के नजदीक ओम मेटल इंफ्राटेक पावर प्रोजेक्ट कम्पनी में काम करते हैं. लेकिन रविवार की दोपहर ग्लेशियर फटने के बाद आए पानी के तेज बहाव और मलवे में वो लापता हो गए हैं. उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में रविवार की दोपहर ग्लेशियर फटने से आसपास के इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी है. स्थिति भयावह होता देख उत्तराखंड सरकार ने रेस्क्यू कार्य शुरू कर दिया है. उत्तराखंड पुलिस और आईटीबीपी के जवानों द्वारा लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. अब तक 25 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है, जबकि कई लोग अब भी फंसे हुए हैं. वहीं, कई भी लापता हैं.

कॉल आने के बाद उड़े परिजनों के होश
इधर, इस हादसे में बिहार की राजधानी पटना के बिहटा में रहने के वाले इंजीनियर मनीष कुमार भी लापता हो गए हैं. मिली जानकारी अनुसार बिहटा के रानीतलाब थाना के निसरपुरा गांव निवासी मनीष कुमार के घर देर शाम उत्तराखंड से फोन आया कि हादसे के बाद मनीष लापता हो गया है. यह सुनते ही घर वालों के होश उड़ गए. आननफानन वो उनकी खोजबीन के लिए हरिद्वार रवाना हो गए हैं.

तीन साल से कंपनी में काम कर रहे हैं मनीष
बता दें कि उक्त गांव निवासी स्व. मदन मोहन सिंह के बेटे इंजीनियर मनीष कुमार (28) हरिद्वार में जोशीमठ के नजदीक ओम मेटल इंफ्राटेक पावर प्रोजेक्ट कम्पनी में काम करते हैं. लेकिन रविवार की दोपहर ग्लेशियर फटने के बाद आए तेज पानी के बहाव और मलवा में वो लापता हो गए हैं. मिली जानकारी अनुसार वो वहां पिछले तीन वर्षों से काम कर रहे हैं.

सीेएम नीतीश ने ट्वीट कर कही ये बात
बता दें कि उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे पर CM नीतीश ने ट्वीट कर चिंता जताई है और आपदा की इस घड़ी में पूरे बिहार के उत्तराखंड के लोगों के साथ होने की बात कही है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि उत्तराखंड आपदा में फंसे लोगों और राहत और बचाव कार्यों में लगे लोगों के लिए प्रार्थना. इस आपदा में पूरा बिहार उत्तराखंड के लोगों के साथ है. हमारे अधिकारी उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय के सम्पर्क में हैं.

Source: Daily Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *