विश्व के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई की इस साल की कुल कमाई करीब 25,000 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इतनी कमाई होने के बावजूद बोर्ड ने इस साल कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने से इनकार कर दिया है। बता दें कि बीसीसीआई में इस वक्त करीब 100 कर्मचारी हैं, जो उसके पेरोल पर काम करते हैं। ये सभी कर्मचारी बीसीसीआई के वानखेड़े स्टेडियम स्थित मुख्यालय क्रिकेट सेंटर को रिपोर्ट करते हैं।

बीसीसीआई मुख्यालय की तरफ से इन्क्रीमेंट न करने की वजह का भी खुलासा हुआ है। बोर्ड की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि आंतरिक संघर्ष के चलते इन्क्रीमेंट की योजना रुकी हुई है। आईपीएल का काम-काज देखने वाले वाले 6 कर्मचारी और डोमेस्टिक व इंटरनेशनल क्रिकेट का काम देखने वाले कर्मचारियों के बीच आंतरिक लड़ाई के चलते यह स्थिति बनी है।

आईपीएल की काम संभालने वाले कर्मचारी क्रिकेट सेंटर की चौथी मंजिल से काम करते हैं। जबकि बीसीसीआई का अन्य स्टाफ दूसरे फ्लोर पर बैठता है। दोनों डिविजन के बीच जारी इस लड़ाई की वजह से इन्क्रिमेंट नहीं हो पा रहा है।

पिछले आईपीएल के दौरान बीसीसीआई के आईपीएल प्रभारी ने सिफारिश की थी कि इस व्यक्ति का मैनेजर के पद पर प्रमोशन किया जाना चाहिए। इस पर बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने आपत्ति जताई थी और कहा था कि इस शख्स को एक साल पहले ही प्रमोट किया गया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here