कोहली ने चार साल पहले इंग्लैंड दौरे पर दस पारियों में सिर्फ 134 रन बनाए थे, लेकिन इस पारी से उन्होंने मानो सबकुछ भुला सा दिया है. भारतीय कप्तान ने कहा कि यह सिर्फ पहले मैच में शतक की बात नहीं है बल्कि इस लय को बरकरार रखना जरूरी है. मैं आउट होने से बहुत निराश था क्योंकि हम 10-15 रन की बढ़त बना सकते थे

इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच (Eng vs Ind, 1st Test, 3rd Day) में अपना 22वां और क्रिकेटपंडितों की नजरों में सर्वश्रेष्ठ शतक जड़ने वाले भारतीय कप्तान अपनी इस 149 रन की पारी को करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी नहीं मानते. विराट कोहली (Virat Kohli rated this second best inning) ने 149 रन की पारी खेलने के बाद बीसीसीआई टीवी से इस सवाल पर कहा कि मुझे नहीं पता. इस पारी को मैं अपने करियर की दूसरी सर्वश्रेष्ठ पारी के तौर पर देखता हूं.

कोहली ने कहा कि अपनी पारी के बारे में और रोशनी डालते हुए कहा कि मैंने खुद से कहा कि इस चुनौती का लुत्फ उठाना जरूरी है. यह मानसिक और शारीरिक ताकत की परीक्षा थी लेकिन मुझे खुशी है कि हम उनके स्कोर के करीब पहुंचे. वहीं, अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के बारे में विराट ने कहा कि निश्चित ही एडिलेड की पारी नंबर एक पर आती है. एडीलेड की पारी मेरे लिए बहुत खास है.

वह दूसरी पारी थी और हम पांचवें दिन 364 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे थे. मेरे दिमाग में साफ था कि हमें लक्ष्य हासिल करना है. यह सोचकर बहुत अच्छा लगता है .कोहली ने दोनों पारियों में शतक जमाए थे, लेकिन भारत 48 रन से हार गया था. ध्यान दिला दें कि यह टेस्ट मैच साल 2014 में 9 से 13 दिसंबर तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here