बालिका गृह से गायब दो महिलाओं को खोज निकाला पुलिस ने,महापाप की जांच सीबीआई तेजी से कर रही है

खबरें बिहार की

बिहार के मुजफ्फरपुर महापाप की जांच सीबीआई तेजी से कर रही है. इधर मधुबनी में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. मधुबनी में चल रहे एक बालिका गृह से आठ महीने पहले भागी दो महिलाओं का पता चल गया है. इनमें से एक मधुबनी के ही राजनगर ब्लॉक में रहती है और दूसरी हरियाणा अपने घर वापस चली गई थी. पुलिस के इस सफलता के बाद हो सकता है कि लड़कियों के गायब होने का मामला साफ हो.

इधर मधुबनी पुलिस के मुताबिक इस मामले में बालिका गृह का संचालन करने वाले एनजीओ परिहार सेवा संस्थान ने एफआईआर दर्ज कराया था. अब इन दोनों को सिर्फ उपस्थिति के लिए वापस बुलाकर केस क्लोज कर दिया जाएगा और ये वापस जा सकेंगी. पुलिस इनकी तलाश कर ही रही थी कि अचानक मुजफ्फरपुर बालिका गृह सेक्स स्कैंडल के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया.

मुजफ्फरपुर से 14 लड़कियों को मधुबनी शिफ्ट किया गया था. जिनमें से एक दिव्यांग लड़की 12 जुलाई को दीवार फांद कर भाग गई. ये लड़की उन दो महिलाओं से अलग है और इसे अभी पुलिस खोज ही रही है. परिहार सेवा संस्थान की सचिव प्रज्ञा भारती ने कहा कि जिस महिला के राजनगर ब्लॉक में रहने का पता चला है उसकी शादी हो चुकी है.

ब्रजेश के NGO के रजिस्ट्रेशन रद्द

आपको बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ बिहार सरकार ने एक और बड़ी कार्रवाई की है. बिहार सरकार ने मुज़फ़्फ़रपुर बाल गृह यौन शोषण कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के सभी एनजीओ (गैर सरकारी संगठन) का निबंधन रद्द कर दिया है.

बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग की इस सम्बंध में अनुशंसा के आधार पर निबंधन विभाग ने अधिसूचना जारी की. इससे पहले समाज कल्याण विभाग ने ब्रजेश ठाकुर के एनजीओ द्वारा संचालित सभी शेल्टर्स होम को बंद करने का फ़ैसला लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.