बख्तियारपुर पहुंचे सीएम नीतीश, पुरानी यादों में खोकर हुए भावुक, बोले-यहां आकर, अच्छा लग रहा

खबरें बिहार की जानकारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को पटना जिले के बख्तियारपुर में विभिन्न योजनाओं का जायजा लिया और कई योजनाओं का स्थलीय मुआयना किया। निरीक्षण के दौरान सीएम अपनी जन्मस्थली से जुड़े पुराने दिनों को याद करते हुए भावुक हो गए। विशेषकर सीढ़ी घाट ठाकुरबाड़ी के पुराने कुएं को देखकर वहां से पानी ले जाने को याद किया।

सीएम ने कहा कि हमारा यहीं जन्म हुआ है। मुझे अपने जन्मस्थान पर आकर अच्छा लग रहा है। पुरानी बातें याद आ रही हैं। सीढ़ी घाट ठाकुरबाड़ी पहुंचकर वहां के पुराने कुएं को जीर्णोद्धार करने का निर्देश दिया। अपने पुराने दिनों को याद करते हुए सीएम भावुक हो गए। कहा कि यह मीठे जल का इकलौता कुआं था, जहां से सभी लोग इसका पानी पीने के लिए ले जाते थे।

सीएम ने कहा कि हमारी इच्छा थी कि यहां एक इंजीनियरिंग कॉलेज बने। अब इंजीनियरिंग कॉलेज बन गया है। यहां छात्र-छात्राएं अच्छे ढंग से पढ़ाई करें, उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो, इसका ध्यान रखें। राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय के निरीक्षण के दौरान कहा कि इंजीनियरिंग संस्थानों में लड़कियों के लिए एक तिहाई सीटें आरक्षित की गई हैं। सरकार की मंशा है कि लड़कियां उच्च शिक्षा के क्षेत्र में भी आगे आएं, खूब पढ़ें।

 

अधिकारियों को कहा कि यहां के बालिका छात्रावासों में बेड की संख्या को और बढ़ाएं। राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय में मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुतीकरण भी दिया गया, जिसमें महाविद्यालय में शिक्षण व्यवस्था के संबंध में जानकारी दी गई। प्रस्तुतीकरण के पश्चात अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियंत्रण महाविद्यालय का एक तरफ से पटना-बख्तियारपुर 4 लेन (एनएच-31) सड़क से संपर्क है तो दूसरी तरफ पटना-बख्तियारपुर पुरानी एनएच-30 से संपर्क है।

इस संपर्क पथ का चौड़ीकरण कराएं, जिससे दोनों तरफ से आवागमन और आसान हो। रेल लाइन के नीचे से संपर्क पथ कम चौड़ा है, उसके ऊपर आरओबी का निर्माण कराएं। मुख्यमंत्री ने राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय के परिसर में वृक्षारोपण भी किया।

 

मुख्यमंत्री ने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माणाधीन कार्य का जायजा लिया और इसे अविलंब पूरा करने को कहा। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि इसका सिविल कार्य 31 मार्च 2022 तक पूर्ण हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने गंगा नदी की पुरानी धारा को बख्तियारपुर के किनारे तक वापस लाने के लिए गंगा के सोता के पुनरोद्धार कार्य के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने दियारा क्षेत्र एवं विभिन्न घाटों का जमीनी मुआयना किया।

 

निरीक्षण के दौरान गंगा के घोसवरी घाट, रवाइच घाट, सीढ़ी घाट, रामनगर दियारा का भ्रमण कर पुनरोद्धार कार्य को लेकर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। प्रखंड सह अंचल कार्यालय के पुराने भवन की जगह नए भवन के निर्माण कार्य का स्थलीय निरीक्षण कर जानकारी ली और जल्द से जल्द निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। प्रखंड परिसर के बगल में नया पशु अस्पताल बनाने का निर्देश दिया। 

 

सीएम ने मंजू सिन्हा प्रोजेक्ट गर्ल्स हाईस्कूल के नए भवन और गणेश आदर्श संस्कृत प्राथमिक सह माध्यमिक विद्यालय का भी निरीक्षण किया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण के बाद परिसर में स्थापित शीलभद्र याजी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। प्रखण्ड सह अंचल कार्यालय परिसर में स्थापित शहीद मोगल सिंह की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्घांजलि दी। शहीद नाथू सिंह पार्क जाकर नाथू सिंह की प्रतिमा तो गणेश उच्च विद्यालय परिसर में स्वतंत्रता सेनानी डूमर सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। वहीं बख्तियारपुर के डाकबंगला परिसर के गृह वाटिका में स्थापित स्वतंत्रता सेनानी कविराज रामलखन सिंह की आदमकद प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.