बाढ़ -सूखे में किसानों को राहत पहुंचाएगी ये स्कीम, बिहार में चल रही इस योजना में करें रजिस्ट्रेशन

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में किसानों के लिए नीतीश सरकार कृषि इनपुट योजना चला रही है। इस योजना के तहत सरकार किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध करती है। योजना का क्रियान्वयन बिहार कृषि विभाग और सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट कर रहा है। स्कीम का उद्देश्य बिहार में सूखे और बाढ़ से प्रभावित होने वाले किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना है। योजना के जरिए सरकार सूखा और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के किसानों को मदद उपलब्ध करवाती है।

इस स्कीम के जरिए सरकार किसानों को प्राकृतिक आपदा के समय होने वाली आर्थिक तंगी से बचाती है। इस योजना में 3 कैटेगरी में सब्सिडी का भुगतान किया जाता है। गैर सिंचाई वाली फसलों के लिए 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर, सिंचाई की बाद नुकसान हुई फसलों के लिए 13500 रुपए प्रति हेक्टेयर और जिन फसलों को लगातार पानी उपलब्ध करवाना पड़ता है उनके लिए 18000 रुपए प्रति हेक्टेयर धनराशि सरकार उपलब्ध कराती है।

योजना के लाभ की शर्तें

योजना का लाभ लेने के लिए सूबे के वे सभी किसान अर्ह हैं जिनके पास खेत है और बाढ़ या सूखा के चलते उनकी फसल को नुकसान हुआ हो। योजना का लाभ एक फसल चक्र में केवल एक बार ही लिया जा सकता है, इसलिए दोबारा आवेदन पर कोई विचार नहीं किया जाएगा।

आवेदन की प्रक्रिया

बिहार कृषि इनपुट स्कीम का लाभ लेने के लिए बिहार सरकार के कृषि विभाग की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करके लॉगिन किया जा सकता है। लॉगिन के बाद किसान के मूल कागजातों समेत खेत के कागजातों की डिजिटल प्रति जमा करनी होगी। ऑनलाइन फॉर्म में ही किसान के बैंक खाते की डिटेल्स भी ली जाएंगी। फॉर्म भरने के बाद सबमिट किए गए आवेदन का प्रिंट निकल लें। ग्राउंड वेरिफिकेशन की प्रक्रिया के दौरान विभाग के संबंधित अधिकारी इसकी मांग क्र सकते हैं। वेरिफिकेशन की प्रक्रिया के बाद अप्रूवल मिल जाएगा और DBT के जरिए खाते में भुगतान किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.