72वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री की घोषणा- 25 सितंबर से शुरू होगी आयुष्‍मान भारत योजना, जानिए क्‍या है फ्री हेल्थ स्कीम?

राष्ट्रीय खबरें

देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी महत्‍वाकांक्षी योजना आयुष्‍मान भारत को 25 सितंबर से शुरू करने की घोषणा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों यानि लगभग 50 करोड़ आबादी को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थय बीमा दिया जाएगा। आपको बता दें कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने इसी साल बजट में आयुष्‍मान भारत स्‍कीम की घोषणा की थी। इसके आद सरकार ने इसी साल अप्रैल में छत्‍तीसगढ़ से आयुष्‍मान योजना को लॉन्‍च किया था।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना की घोषणा करते हुए कहा कि आयुष्‍मान स्‍कीम को शुरू करने के लि‍ए एक खास तकनीक विकसित की गई है। इसकी टेस्‍टिंग आज से शुरू कर दी गई है। पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में यह टेस्टिंग लगभग डेढ़ महीने तक जारी रहेगी। जिसके बाद की इस स्‍कीम को देश भर में शुरू किया जाएगा।

जानिए क्‍या है आयुष्‍मान स्‍कीम

देश के करीब 50 करोड़ गरीब लोगों को बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के लिए इस योजना का खाका तैयार किया है। स्कीम का लाभ लेने वाले परिवारों का चयन आर्थिक आधार पर होगा जिनका देश के चुने हुए प्राइवेट अस्पतालों में भी फ्री इलाज हो सकेगा।

राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य बीमा का स्‍थान लेगी आयुष्‍मान भारत

आयुष्मान भारत योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा और सीनियर सिटीजन इंश्योरेंस स्कीम का स्थान लेगी। मौजूदा राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में अब तक गरीब परिवारों को 30 हजार रुपये का सलाना कवरेज ही मिलता आया है लेकिन अब ये 5 लाख रूपये होगा। इस स्कीम के लिए सरकार ने 85 हज़ार 217 करोड़ की राशि अलॉट की है। यह राशि 31 मार्च 2020 तक के लिये होगी। अभी तक की जानकारी के मुताबिक इस योजना पर खर्च होने वाली राशि का 60 फीसदी केंद्र सरकार और 40 फीसदी राज्य सरकार वहन करेगी।

मोदी सरकार के लिए महत्‍वपूर्ण

फ्री हेल्थ स्कीम को मोदी सरकार की गेम चेंजर स्कीम माना जा रहा है। यानी ये स्कीम 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बड़ा फायदा पहुंचा सकती है। फ्री हेल्थ स्कीम का सपना मोदी सरकार ने इस साल बजट में दिखाया था। वो सपना आज साकार होने जा रहा है। लालकिले से प्रधानमंत्री मोदी ने 25 सितंबर की तारीख की घोषणा की है। मोदी सरकार ने देश भर के सबसे पिछड़े 115 जिले चुने हैं। इन जिलों की लिस्ट बनाकर सरकार इन्हें विकसित करने की योजना बना रही है।

स्‍वास्‍थ्‍य ढांचा भी होगा मजबूत

मोदी सरकार सिर्फ फ्री हेल्थ स्कीम ही नहीं ला रही देश भर में प्राइमरी हेल्थ सेंटर को भी मजबूत कर रही है ताकि लोगों को छोटी-मोटी बीमारी के लिए भी जिला अस्पताल और बड़े अस्पतालों के चक्कर नहीं लगाने पड़े। हेल्थ और वेलनेस सेंटर में ना सिर्फ बीमारियों का इलाज होगा और मुफ्त दवाइयां मिलेंगी बल्कि हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और तीन तरह के कैंसर की प्रारंभिक जांच भी की जाएगी ताकि शुरुआती स्टेज में ही इन बीमारियों को पकड़कर इसका इलाज किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.