3270 पदों पर होगी आयुर्वेदिक, युनानी, होम्योपैथिक चिकित्सकों की बहाली, 30 बेड का बनेगा नया अस्पताल

खबरें बिहार की

पटना: नौबतपुर में 30 बेड के नये अस्पताल के निर्माण की योजना पर विचार किया जा रहा है. अगामी वित्तीय वर्ष में निधि की उपलब्धता के अनुरूप कार्य किया जायेगा. मंगलवार को विधान परिषद में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इसकी जानकारी दी. विप सदस्य सीपी सिन्हा के सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि 2632 सामान्य चिकित्सा पदाधिकारी व 3706 विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियमित नियुक्ति की जायेगी.

मंत्री ने विप सदस्य खालीद अनवर के सवाल के जवाब में बताया कि पटना में संचालित आयुर्वेदिक महाविद्यालय में यूजी के सीटों की संख्या 40 से बढ़ाकर 100 करायी गयी है. कुल छह विषयों में पीजी की पढ़ायी शुरू हुई है. वहीं, यूनानी प्रक्षेत्र में पटना में संचालित राजकीय तिब्बी कॉलेज में यूजी की सीटें 60 से बढ़ाकर 125 की गयी है.

पांच विषयों में 31 सीटों पर पीजी के नामांकन की अनुमति प्राप्त की गयी है. इसके अलावा मुजफ्फरपुर में संचालित होमियोपैथ प्रक्षेत्र के महाविद्यालय में आरबीटीएस में भी यूजी की सीट 60 से बढ़ा कर 75 की गयी है और दो विषयों में पीजी की पढ़ायी शुरू की गयी है.

आयुर्वेदिक, यूनानी व होम्योपैथी के 3270 पदों पर नियुक्ति

स्वास्थ्य मंत्री ने विप में बताया कि आयुष प्रक्षेत्र के विकास के लिए सरकार कृत संकल्प है. निजी प्रक्षेत्रों में आयुष महाविद्यालय बिहार में अधिक से अधिक खोले जायें, इस संबंध में सरकार की ओर से जल्द ही रोड मैप तैयार किया जायेगा.

इस पर चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई की जायेगी. मंत्री ने बताया कि आयुष एवं यूनानी केंद्र खोले जाने का कोई प्रस्ताव अभी विचाराधीन नहीं है. सरकार की एक अनुसंधान इकाई राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय पटना में संचालित है.

इसके अलावा मंत्री ने बताया कि आयुष प्रक्षेत्र आयुर्वेदिक, युनानी एवं होम्योपैथिक चिकित्सकों की 3270 पदों पर नियुक्ति के लिए अधियाचना बिहार तकनीकी सेना आयोग को भेजी गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *