आयुर्वेद का यह रामबाण नुस्खा खांसी-जुकाम जड़ से भगा देगा, पर खानी होंगी ये चीजें

खबरें बिहार की जानकारी

मौसम बदलते ही सेहत का हाल भी बदलने लगता है. कभी ठंडी हवाओं की चपेट में आने से खांसी लग जाती है तो कभी जुकाम और नाक बहने की दिक्कत से दोचार होना पड़ता है. ऐसे में इन छोटी-बड़ी दिक्कतों को दूर करने के लिए घर की ही कुछ चीजें बेहद काम आती हैं. जिन चीजों का यहां जिक्र किया जा रहा है वे आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic Medicine) की तरह काम करती हैं और खांसी-जुकाम पर तुरंत असर दिखाती हैं. यहां जानिए सर्दी, खांसी, जुकाम (Cold), बंद गले और गले की खराश में कौनसे आयुर्वेदिक नुस्खे इस्तेमाल किए जा सकते हैं

खांसी-जुकाम के आयुर्वेदिक नुस्खे | Ayurvedic Remedies For Cold And Cough 


शहद 

एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है शहद. इसके सेवन से ना सिर्फ खांसी-जुकाम बल्कि खराब गले की दिक्कत भी दूर होती है. इसे सादा भी चम्मच भरकर खाया जा सकता है या फिर अदरक के साथ इसका सेवन करें. अदरक और शहद (Honey) साथ खाने पर इस नुस्खे का असर बढ़ जाता है.

 

हल्दी वाला दूध 

एक गिलास हल्दी वाला दूध सर्दियों में खांसी-जुकाम और अन्य वायरल रोगों के रामबाण इलाज की तरह काम करता है. हल्दी के एंटीबैक्टीरियल गुण इस मौसम में बीमारियों से बचाते हैं. इस दूध को तैयार करने के लिए कच्ची हल्दी (Raw Turmeric) का इस्तेमाल ज्यादा फायदेमंद रहता है.

गिलोय 

सर्दी-जुकाम का नाम सुनते ही आजकल गिलोय का नाम दिमाग में घूमने लगता है. गिलोय ना सिर्फ इन वायरल इंफेक्शंस को दूर करता है बल्कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनाने में भी असरदार है. गिलोय के पत्ते, तने या टैबलेट खाई जा सकती है. इसका काढ़ा भी खांसी-जुकाम दूर करने में कारगर है.

लहसुन

 

एंटीमाइक्रोबियल और एंटीवायरल गुणों से भरपूर होता है लहसुन. इसे आम सर्दी-जुकाम दूर करने के लिए खाया जा सकता है. आप 1-2 लहसुन (Garlic) चबा सकते हैं. इसे भूनकर भी खाया जा सकता है और सूप या सब्जी में भी लहसुन डाल सकते हैं.

बनाएं काढ़ा 

बर्तन लें और उसमें 1 से डेढ़ कप पानी डालें. इसमें लहसुन, काली मिर्च, दालचीनी, अदरक और तुलसी डालें. जब तक पानी आधा ना हो जाए तबतक इस पानी को उबालें और पी लें. खांसी-जुकाम से राहत मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.