ayodhya diwali 2017

भगवान श्रीराम विमान से पहुंचे आयोध्या, CM योगी ने आरती कर किया स्वागत

आस्था

‘श्री राम चन्द्र कृपाल भजमन..’ के साथ अयोध्या के राम कथा पार्क में राज्याभिषेक शुरू हो गया। पुष्पक विमान के प्रतीक हेलीकाप्टर से श्री राम व सीता के प्रतीक स्वरूप के पहुंचने पर भव्य आरती हुई। राज्यपाल, मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, सहित कई मंत्री, सांसद, सभी विधायक मौजूद हैं।

बेहद दिव्य और राममय वातावरण के बीच दीपोत्सव कार्यक्रम शुरू हो गया। पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा ने न्यास अध्यक्ष नृत्य गोपाल सहित संतो का स्वागत शाल देकर किया।

4:30pm – मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की नगरी अयोध्या में छोटी दीपावली मनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंच चुके हैं। सीएम योगी ने श्रीराम का रस्मी तौर पर राज्याभिषेक किया।

यहां भगवान राम की लंका विजय से अयोध्या लौटने के पश्चात उनकी भव्य आरती की परम्परा को पुर्नजिवित किया जाएगा। इसके अलावा राम की नगरी को संवारने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 134 करोड़ रुपये की योजनाओं की घोषणा करेंगे।

केंद्र सरकार से मिलने वाली इस रकम को भगवान राम के महल, राजा दशरथ के महल और भगवान राम की जल समाधि लेने वाले घाट के जीर्णोद्धार एवं सौदर्यीकरण पर खर्च की जाएगी।

ayodhya diwali 2017

दीप महोत्वस :

नरकचतुर्दशी यानी छोटी दिवाली के माैके पर सीएम योगी की मौजूदगी में दीप महोत्वस का आयोजन किया जाएगा। इस महोत्सव में दो लाख दिए जलाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया जाएगा।

इससे पहले डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम ने एक लाख 50 हजार दिए जलाने का रिकॉर्ड बना चुके हैं। कहा जा रहा है कि दिवाली की संध्या पर उसी प्रकार से सरयू किनारे दिए प्रज्जलित किए जाएंगे जैसे भगवान राम के लंका से वापस आने पर किया गया था।

भगवान राम ने जिस गुप्तार घाट पर जल समाधि ली, आज भी स्थानीय पयर्टक भी अनजान हैं। ऐसे में अयोध्या आने वाले लाखों तीर्थयात्रियों को रामलाल से जुड़ी कथाएं और स्थलों की जानकारी मुहैय्या कराने की कोशिशों पर काम किया जा रहा है।

19वीं शताब्दी में राजा दर्शन सिंह का बनाए गए गुप्तार घाट और वहां निर्मित विशाल सीता-राम मंदिर का जीर्णोद्धार पर सरकार 37 करोड़ रपये से ज्यादा की रकम खर्च करेगी। ताकि उसे पुराने आर्किटेक्चर पर ही नए सिरे से बनाया जा सके।

निर्माण के दौरान पर्यटकों की सुविधाओं को भी ख्याल रखा जाएगा। सरयू नदी पर राम की पैड़ी को करीब 12.5 करोड़ खर्च कर नए सिरे से बनाया जाएगा। यहां लाइटें लगाई जाएगी ताकि यह पूरा क्षेत्र जगमग रहे।

इसी तरह भगवान राम के निवास स्थान कनक भवन और राजा दशरथ के निवास स्थान दशरथ महल का भी जीर्णोद्धार करीब 11.5 करोड़ रुपये की रकम खर्च की जाएगी। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के जीवन में लक्ष्मण की भूमिका भी कमतर नहीं है।

इसलिए सरयू नदी के तट पर बने लक्ष्मण घाट का भी सौंदर्यीकरण करते हुए उसे नए सिरे से निर्मित किया जाएगा। इस कार्य पर तकरीबन 11 करोड़ रुपये की रकम खर्च की जाएगी।

शहरवासियों और तीर्थयात्रियों के लिए बड़ी योजनाएं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्यावासियों एवं तीर्थ यात्रियों के लिए भी छोटी दीपावली के इस कार्यक्रम में कई बड़ी योजनाओं को एलान करेंगे।

दिगम्बर अखाड़ा परिसर में बहुउद्देश्यीय प्रेक्षागृह का निर्माण, राम की पैड़ी, पर्यटकों के ठहरने के स्थल, सुरक्षा की दृष्टि से प्रमुख जगहों को सीसीटीवी से लैस करना, पुलिस बूथों की बढ़ोत्तरी, जगहों के दर्शन के लिए इको फ्रेंडली ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जाएगी। यही नहीं नागरिक सुविधायें जैसे शौचालय, जल निकासी की उचित व्यवस्था की जाएगी।

ayodhya diwali

अयोध्या को विश्व के मानचित्र पर लाने की तैयारी

प्रमुख सचिव पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि नव्य अयोध्या को धार्मिक पर्यटन में विश्व मानचित्र पर लाने की योजना है। अयोध्या में पयर्टन को बढ़ावा देने के लिए त्रेतायुग की थीम पर ‘नव्य अयोध्या’ प्रोजेक्ट तैयार कर केंद्र से 195.89 करोड़ रुपये की मांग की गई थी।

डीपीआर को स्वीकृत करते हुए पर्यटन मंत्रालय ने 133.70 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत अयोध्या में भगवान राम की 100 मीटर से ज्यादा ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी।

 

सरयू तट पर होगी भगवान राम की अगवानी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरयू तट पर भगवान राम की आगवानी करेंगे। हरी की पैड़ी को 1.71 लाख दीपक से रोशन किया जाएगा। इन दीप को जला कर गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में अयोध्या दर्ज हो जाएगा।

ayodhya diwali

इसके लिए शासन ने संबंधित अधिकारियों से संपंर्क कर लिया है। दीपोत्सव कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पर्यटन मंत्री डॉ रीता बहुगुणा जोशी, केन्द्रीय पर्यटन राज्यमंत्री एल्फांस कंननथानम, केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री डॉ. महेश शर्मा समेत प्रदेश के सभी सांसद-मंत्री एवं विधायक आमंत्रित हैं।

इस दौरान अयोध्या की हेरिटेज वाक, भगवान श्रीराम के अयोध्या आगमन को समेटे भव्य शोभा यात्रा आयोजित होगी। यात्रा के रामकथा पार्क आगमन पर पूजन-वन्दन, श्रीराम के प्रतीकात्मक राज्यभिषेक का आयोजन किया जाएगा।

यहां श्रीलंका, इंडोनेशिया और भारत की ओर से गोरखपुर एवं सलेमपुर के कलाकारों का संयुक्त दल क्रमश: 60-60 मिनट की रामलीला की प्रस्तुति देगा। सरयू तट पर लेजर-शो का भी आयोजित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.