पटना: परिवहन विभाग ने ऑटो किराया की नयी दर जारी नहीं की पर एक ऑटो यूनियन ने किराया बढ़ा दिया है. कहने को यह वृद्धि 25 से 30 फीसदी के बीच की गयी है, लेकिन अलग अलग प्वाइंट के बीच इस वृद्धि को देखने पर यह 10 फीसदी से 100 फीसदी तक हैं.

सबसे अधिक वृद्धि न्यूनतम किराया में की गयी है और अब यह पांच की बजाय 10 रुपये हो गयी है. ऑटो रिक्शा के किराया में वृद्धि की मांग पिछले कुछ दिनों से चल रही थी 11 फरवरी को डीटीओ, आरटीए सेक्रेटरी और ऑटो यूनियनों की इस मुद्दे पर बैठक हुई थी. इसमें किराया निर्धारण की प्रक्रिया शुरू करने पर सहमति बनी थी और कुछ ऑटो यूनियनों ने सुझाव भी दिये थे. लेकिन इससे पहले की उन पर विचार कर और विभिन्न पक्षों की आपत्ति लेकर परिवहन विभाग नया सर्वमान्य किराया दर तय करती प्रगतिशील ऑटो रिक्शा यूनियन ने अपनी बैठक में ऑटो किराया में वृद्धि का निर्णय ले लिया.

यह वृद्धि गुरुवार से उन्होंने लागू करने की घोषणा भी की है. यूनियन के द्वारा जारी नये किराया सूची के अनुसार जीपीअो जगदेव पथ, पटना जंक्शन कुर्जी और दीघा मोड़ से आशियाना मोड़ रुट में यह वृद्धि लागू होगी. हालांकि परिवहन विभाग और जिला प्रशासन ने इस वृद्धि के बारे में जानकारी होने से इन्कार किया है.

उन्होंने ऑटो रिक्शा के किराया निर्धारण की प्रक्रिया के अभी जारी रहने और इसके पूरी होने के बाद ही नयी दरों को जारी करने की बात कही है. अन्य ऑटो यूनियन ने अभी अपने को इस वृद्धि से अलग रखा है.

ऑटो किराया निर्धारण की प्रक्रिया जारी, मनमानी गलत

परिवहन सचिव सह आयुक्त पटना प्रमंडल संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि ऑटो किराया निर्धारण की प्रक्रिया अभी चल रही है. और इसके पूरी होने के बाद ही नयी दरों को जारी किया जायेगा. तब तक ऑटो यूनियन के द्वारा किसी भी प्रकार की किराया वृद्धि गलत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here