रक्षाबंधन पर बहनों को मुफ्त में भाई के यहां ले जाते हैं ऑटो चालक धनराज, वजह जानकर भर आएंगी आंखें

प्रेरणादायक

Patna: रक्षाबंधन पर बहन और भाई के प्यार के किस्से आपने कई सुने होंगे. लेकिन जोधपुर के रहने वाले एक भाई अपनी बहन को हर रक्षाबंधन पर अनोखी श्रद्धांजलि देता है. उसकी बहन का 5 साल पहले निधन हो गया. उसकी याद में भाई हर रक्षाबंधन पर सुबह से लेकर शाम तक सैकड़ों बहनों को उनके भाइयों तक निशुल्क यात्रा करवाता है.

दरअसल जोधपुर के मदेरणा कॉलोनी में रहने वाले धनराज दाधीच रक्षाबंधन पर सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक हर बहन को उनके भाइयों तक पहुंचाने में निशुल्क सेवा दे रहे हैं. धनराज दाधीच अपनी ऑटो रिक्शा को वैसे तो जीवनयापन करने के लिए चलाते हैं लेकिन रक्षाबंधन पर हर फोन करने वाली बहन को उसके भाई के घर तक निशुल्क यात्रा करवाते हैं.

निशुल्क यात्रा का एक सप्ताह पहले देते हैं मैसेज धनराज दाधीच रक्षाबंधन से 1 सप्ताह पहले सोशल मीडिया यानी फेसबुक, व्हाट्सएप पर रक्षाबंधन पर निशुल्क यात्रा का मैसेज देते हैं. अपने ऑटो पर उन्होंने निशुल्क यात्रा का पोस्टर भी चस्पा कर रखा है. साथ ही फेसबुक पर उन्होंने बकायदा रक्षाबंधन पर सुबह 10:00 से शाम को 5:00 बजे तक बहनों को फ्री यात्रा का मैसेज छोड़ रखा है. उन्होंने बकायदा अपने मोबाइल नंबर भी पोस्टर में दे रखा है.

दरअसल 5 साल पहले धनराज दाधीच की इकलौती बहन बेबी का निधन हो गया था. उस दौरान रक्षाबंधन के दिन अपनी सूनी कलाई को देख धनराज ने अपनी बहन को बहुत मिस किया. लिहाजा उसी दिन से उन्होंने हर रक्षाबंधन पर अपनी ऑटो में हर बहन को निशुल्क यात्रा करवाने का प्रण लिया. तब से लेकर आज 5 सालों बाद तक धनराज रक्षाबंधन के दिन बहनों को उनके भाइयों की कलाई में राखी बांधने निशुल्क यात्रा करवाते हैं. वह कहते हैं कि उनकी बहन तो इस दुनिया में नहीं है. लेकिन रक्षाबंधन के दिन हर महिला उनकी बहन है और उन्हें निशुल्क यात्रा करवाकर उन्हें दिली खुशी महसूस होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.