केरल के स्वीमर सजन प्रकाश 18वें एशियन गेम्स में इतिहास रच रहे हैं, उधर उनके रिश्तेदार बाढ़ में फंस गए हैं. सजन प्रकाश को शनिवार तक यह नहीं पता था कि केरल में बाढ़ जानलेवा हो गई है. गेम्स की शुरुआत के बाद मां ने उन्हें केरल की बाढ़ के बारे में बताया. सजन प्रकाश 200 मीटर बटरफ्लाई इवेंट के फाइनल में पहुंच गए हैं. केरल की बाढ़ में 200 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. सबसे अधिक 43 लोगों की मौत इडुक्की जिले में हुई है. एनडीआरएफ ने केरल में अब तक का सबसे बड़ा राहत अभियान चलाया है. इसमें 58 टीमें जुटीं हैं.

मामा और नानी के बारे में कोई खबर नहीं
सजन प्रकाश ने रविवार को फाइनल में पहुंचने के बाद मीडिया से बात की. उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, ‘मेरा पैतृक गांव और ननिहाल इडुकी जिले में है. मां ने बताया कि मेरे मामा के गांव के बारे में किसी को कोई खबर नहीं है. मामा के परिवार के साथ नानी भी रहती हैं. मुझे अब भी नहीं पता कि वे कहां हैं और कैसे हैं.’ सजन प्रकाश 1986 के बाद स्वीमिंग के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय हैं. उनसे पहले खजान सिंह फाइनल में पहुंचे थे.

इतना पता है कि सेफ जगह में ले जाए गए हैं  
सजन प्रकाश ने बताया कि उनका ननिहाल पेरियार बांध के करीब है. पिछले सप्ताह लगातार बारिश होने के बाद बांध के गेट खोल दिए गए थे. इसके बाद वहां आसपास रह रहे लोगों को घर छोड़कर सुरक्षित जगहों पर जाना पड़ा. उन्होंने कहा, ‘मुझे सिर्फ इतना पता है कि मेरे रिश्तेदारों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है. पर मैं यह नहीं जानता कि वे कहां हैं.’

श्रीहरि नटराज भी फाइनल में पहुंचे
सजन प्रकाश ने 200 मीटर बटरफ्लाई इवेंट के हीट-3 में 1 मिनट और 58.12 सेकंड का समय लेकर पहला स्थान हासिल किया. श्रीहरि नटराज ने भी अच्छी शुरुआत करते हुए 100 मीटर बैकस्ट्रोक इवेंट के फाइनल में जगह बना ली है. नटराज ने हीट-1 में पहले स्थान पर रहते हुए अंतिम सूची में आठवां स्थान हासिल किया. एक अन्य भारतीय तैराक मणि अरविंद फाइनल से बाहर हो गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here