Breaking News | कश्मीर से कन्या कुमारी तक पूछ लीजिये, लोग बता देगे नीतीश अच्छे लालू बुरे- अशोक चौधरी

राजनीति

बिहार कांग्रेस में जो कुछ भी हुआ उस में सबसे ज्यादा नुकसान अशोक चौधरी का हुआ है. प्रेस कांफ्रेंस में मिडिया से बात करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष भावुक हो गए.

अशोक चौधरी ने कहा दलित हूँ इसलिए जिस तरह से निकाला गया उससे अपमानित महसूस कर रहा हूँ. राहुल गांधी और सोनिया गांधी को बहलाया गया और मेरे खिलाफ षडयंत्र किया गया.

जो भी फैसला हुआ है, स्वीकार्य है.

अशोक चौधरी ने भरे गले से कहा-
“मेरे ऊपर पार्टी तोड़ने का आरोप लग रहा था.यह आरोप मुझ पर दिल्ली में पार्टी के कुछ बड़े लोग लगा रहे थे. मुझे सम्मानित एग्जिट दिया जाए, मैं यह डिजर्व करता था.

राहुल गांधी दलितों के यहां जाते हैं और बिहार में सीपी जोशी ने एक दलित को अपमानित किया है.आलाकमान को सी पी जोशी ने गुमराह किया। मैं पिछले 50 दिनों से झेल रहा हूँ यह आरोप.”

मेरी दो पीढ़ी ने कांग्रेस को परिवार समझा है.

आगे उन्होंने कहा-
“70 साल से मेरा परिवार कांग्रेस से जुड़ा है फिर भी मुझे अपमानित करके हटाया गया.जिसने अन्य राज्यों में कांग्रेस का लुटिया डुबो दिया, वह अब बिहार की लुटिया डुबोयेगा.

अपने लोगों को अध्यक्ष बनाने के लिए मेरे खिलाफ साजिश की गई, मैं अपनी पीड़ा राहुल गांधी और सोनिया गांधी को बताऊंगा.”

और बोलते-बोलते रो पड़े

बोलते-बोलते रो भी पड़े अशोक चौधरी. कहा मुझे अपमानित किया गया, जो लोग मुझ जैसे कांग्रेस के सच्चे कार्यकर्ता को दुखी किया, उनके खिलाफ मुहिम चलाऊंगा.

कशमीर से कन्याकुमारी तक पता कर लें

चौधरी ने और भी कई बातें कहीं, ये भी कहा कि कशमीर से कन्याकुमारी तक पता कर लें, समझ आ जाएगा कि कौन ज्यादा लोकप्रिय है – लालू या नीतीश ?

नीतीश और लालू की तुलना ही नहीं की जा सकती. यह भी कहा कि लालू प्रसाद के साथ जो गया वो बर्बाद हो गया.

मुख्यमंत्री के हम थे नजदीक लेकिन सवाल उठता है कि नीतीश के पास कौन भेजा – आलाकमान के निर्देश पर ही महागठबंधन बना और व्यक्ति के व्यवहार, स्वभाव से कोई किसी का नजदीकी बनता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.