अरब देश हुआ बिहारी लीची का दीवाना, जितना खाए मन ललचाए

खबरें बिहार की

मुजफ्फरपुर जिले की लीची अरब देशों में किस तरह पहुंच बनाए, किन- किन देशों में सही व आसान तरीका से भेजा जा सके, लीची के गुणवत्तापूर्ण उत्पादन, फल का आकार, रंग, महक व मिठास बनी रहे।

इसके लिए राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र मुशहरी में कई राज्यों के उद्यमियों व प्रगतिशील किसानों को दो दिनी प्रशिक्षण दिया गया।

केंद्र निदेशक डॉ. विशालनाथ ने बताया कि कोई भी उत्पाद किसी देश तक पहुंचाने के लिए पहले ट्रीटमेंट के साथ वातावरण के अनुसार कोल्ड चेन को मेंटेन करना होगा। उसके बाद फलों में इसका ध्यान रखा जाना चाहिए ताकि उसकी गुणवत्ता, फल का आकार, रंग, महक व मिठास पैमाने पर खरा उतर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.