अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को फ्लोरिडा के 54 साल के भारतवंशी अनुराग सिंघल को फेडरल जज के रूप में नामित किया है। व्हाइट हाउस की ओर से सीनेट को भेजे गए 17 जजों में उनका नाम भी शामिल है। सिंघल फ्लोरिडा के जज बनने वाले पहले भारतीय होंगे। वे जेम्स आई. कोह्न की जगह लेंगे।

सिंघल फ्लोरिडा में इस पद के लिए नामित होने वाले पहले भारतीय हैं। सीनेट की ज्यूडिशियरी कमेटी द्वारा जज के नामों की पुष्टि बुधवार को होने वाली है। वे 2011 से फ्लोरिडा में 17वें सर्किट कोर्ट में कार्यरत हैं। सिंघल ने राइस यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने वेक फॉरेस्ट यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई की है।अपने करियर की शुरुआत में सिंघल ने राज्य अटॉर्नी ऑफिस में प्रॉसिक्यूटर के रूप में काम किया।

सिंघल दशकों तक रक्षा विभाग के भी वकील रहे। उनके माता-पिता 1960 में अमेरिका चले गए थे। उनके पिता अलीगढ़ से थे और वे शोध वैज्ञानिक थे। उनकी मां देहरादून से थीं।

इससे पहले ट्रम्प ने कैलिफोर्निया में अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के लिए फेडरल जज के पद पर भारतीय मूल की अमेरिकी अटॉर्नी शिरीन मैथ्यूज को नामित किया था। एशियाई-अमेरिकी संस्था नेशनल एशियन पैसिफिक अमेरिकन बार एसोसिएशन (एनएपीएबीए) ने इसके लिए ट्रम्प की सराहना की थी।

Sources:-Live News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here