बिहार में एक और घातक बीमारी ब्लैक फंगस ने दी दस्तक, मिले 5 मरीज, पटना एम्स और आईजीआईएमएस में भर्ती

खबरें बिहार की

Patna: बिहार में कोरोना अभी कोहराम मचा ही रहा है कि इसी बीच एक और घातक बीमारी ब्लैक फंगस ने आगाज कर दिया. पटना में 5 मरीजों में इसकी पुष्टि हुई है. AIIMS में 4 और IGIMS में भर्ती एक मरीज में ब्लैक फंगस मिला है.जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की चिंता और बढ़ा दी है. पटना एम्स के कोरोना संक्रमित एक मरीज में इसके लक्षण पाए गए हैं. इसके साथ ही IGIMS में भी भर्ती मुजफ्फरपुर की एक महिला मरीज में इसकी पुष्टि हुई है.

पटना IGIMS में इलाजरत मुजफ्फरपुर की महिला में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है. जिसक इलाज के लिए एक्सपर्ट डॉक्टरों की टीम गठित कर दी गयी है. एक्सपर्ट डॉक्टरों की टीम लगातार इसपर नजर बनाए हुए हैं. इनकी माने तो ब्लैक फंगस कोशिकाओं को खत्म कर देता है. उधर पटना एम्स के अधीक्षक डॉ अनिल कुमार ने बताया कि ब्लैक फंगस ऐसे मरीजों को होता है जो हाई डायबिटीज के शिकार होते हैं और उन्हें कोरोना का इलाज चलता रहता है. कोरोना के इलाज के दौरान स्टेरॉयड का हाई डोज उन्हें महंगा पड़ता है और ब्लैक फंगस के शिकार हो जाते हैं.

एम्स के डॉक्टर बताते हैं कि कोरोना के कारण बिना किसी डॉक्टर के सलाह के स्टेरॉयड लेना ब्लैक फंगस का कारण बन सकता है. कोरोना काल में संक्रमण के कारण अचानक से ऐसे मामले बढ़े हैं. इसमें शुगर हाई होना, स्टेरॉयड का हाईडोज लेना, बिना एक्सपर्ट की निगरानी के डेक्सोना जैसे स्टेरॉयड की हाई डोज लेना बड़ा कारण बन सकता है. ब्लैक फंगस के लिए यह बड़ा कारण हो सकता है.

Source: Live Cities News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *