anamika kbc 9 jharkhand

जानिए KBC 9 में सबसे पहले एक करोड़ जीतने वाली झारखंड की इस महिला के बारे में

प्रेरणादायक राष्ट्रीय खबरें

2 अक्टूबर को प्रसारित होने वाले शो में आप देखेंगे झारखण्ड की अनामिका को हॉटसीट पर अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब देते हुए।

41 साल की अनामिका मजूमदार 1 करोड़ रु. जीतने वाली पहली कंटेस्टेंट बन गई हैं। अनामिका से पहले इस सीज़न में हरियाणा के बिरेश चौधरी ने 50 लाख की रकम जीती थी, जो इस सीज़न की सर्वाधिक कमाई गई रकम थी।

भारतीय टेलिविजन जगत में ‘कौन बनेगा करोड़पति’ एकमात्र ऐसा शो है जो न केवल लोगों का मनोरंजन करता है बल्कि उनके सपनों को उड़ने के लिए पंख भी देता है। टीवी पर यह शो देखने वाले अधिकतर लोग यही सोचते हैं कि काश उन्हें भी केबीसी की हॉटसीट पर बैठने का मौका मिल जाता।

लेकिन इस जगह पर पहुंचने वालों को भी हर कदम पर सवालों की एक नई बाधा पार करनी होती है। बहुत कम ही लोग ऐसे होते हैं जो यहां से करोड़ रुपये की राशि जीतकर अपने घर ले जाते हैं।

केबीसी के इस एपिसोड में अभी तक कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं आया जो एक करोड़ रुपये जीतकर गया हो। लेकिन झारखंड की एक महिला के खाते में केबीसी-9 के इस बार का पहला एक करोड़ का खिताब गया है।

इस करोड़पति बनाने वाले शो में एक करोड़ जीतने वाली महिला झारखंड राज्य की अनामिका मजूमदार हैं जिन्होंने इतनी बड़ी रकम जीतकर इतिहास रच दिया है। जमशेदपुर की रहने वाली अनामिका शादीशुदा होने के साथ ही दो बच्चों की मां भी हैं।

वह एक एनजीओ भी चलाती हैं जिसका नाम है ‘फेथ इन इंडिया’. यह एनजीओ झारखंड के ग्रामीण इलाकों के लोगों के लिए काम करता है। सूत्रों के मुताबिक इस शो में जीतने वाली रकम को अनामिक अपने एनजीओ के कामकाज में लगाएंगी।

anamika kbc 9 jharkhand
भले ही लोग यह सोचते हों कि उन्होंने एक बड़ा मौका छोड़ दिया लेकिन अगर देखा जाए तो यह उनका बड़ा ही महत्वपूर्ण फैसला था।

हैरानी वाली बात है कि अनामिका ने सिर्फ एक करोड़ रुपये ही नहीं जीते बल्कि 7 करोड़ के लिए क्वॉलिफाई भी किया। हालांकि वह और पैसों के लालच में नहीं पड़ीं और एक करोड़ से ही खुद को संतुष्ट कर लिया। उन्होंने आगे का गेम नहीं खेला।

क्योंकि केबीसी के नियमों के मुताबिक अगर वह आगे का खेल खेलतीं और गलत उत्तर देतीं तो उन्हें यह रकम भी नहीं मिलती। भले ही लोग यह सोचते हों कि उन्होंने एक बड़ा मौका छोड़ दिया लेकिन अगर देखा जाए तो यह उनका बड़ा ही महत्वपूर्ण फैसला था।

यह वह मौका था जबकि उन्हें एक सवाल का सही जवाब देने पर काफी सारे पैसे मिल जाते, लेकिन वहीं गलत जवाब देने पर उनके हाथ कुछ भी नहीं आता।

अनामिका के इस शो को ऑन एयर होने में अभी कुछ वक्त है, लेकिन सूत्रों के हवाले से निकली खबर ने चर्चाएं तेज कर दी हैं। इस शो की यही खासियत है कि यह अपने रोमांच और सस्पेंस से सभी दर्शकों को बांधे रखता है।

anamika kbc 9 jharkhand

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अनामिका के करोड़पति बनने वाले एपिसोड की शूटिंग पूरी हो चुकी है और बहुत जल्द ही यह टीवी चैनल पर प्रसारित भी होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अनामिका जौसे ही करोड़पति बनीं अमिताभ बच्चन चीख उठे।

उन्होंने लगभग चिल्लाते हुए कहा आप इस शो की पहली करोड़पति बन गई हैं। अनामिका ने जब ये रकम जीती तो अपने आंसू नहीं रोक पाईं।

अनामिका के साथ उनकी मम्मी भी फूट-फूटकर रो पड़ी। केबीसी से 1 करोड़ की बड़ी रकम जीतना आसान नहीं है। इस जीत के बाद के बाद अनामिका की जिंदगी बदल गई। शो के इस सीजन में अभी तक कोई भी व्यक्ति एक करोड़ की राशि नहीं जीत पाया था।

इससे पहले बीरेश चौधरी नाम के शख्स 1 करोड़ रुपये के सवाल तक पहुंचने में कामयाब रहे, लेकिन उस सवाल का जवाब नहीं जानने के कारण उन्होंने 50 लाख रुपये जीतकर खेल को क्विट कर दिया था।

anamika kbc 9 jharkhand

अनामिका ने खोले पर्सनल लाइफ के कुछ राज़:

– अनामिका ने बातचीत में बताया कि वो बचपन से मदर टेरेसा की तरह बनना चाहती थीं।
– यही वजह थी कि उन्होंने कभी शादी करने के बारे में सोचा भी नहीं था और न ही करना चाहती थीं।

– उन्होंने बताया, “मेरी मां ने मुझे शादी के लिए काफी फोर्स किया। यही वजह थी कि मैं उन्हें मना नहीं कर पाई और मुझे शादी करनी पड़ी।”
– “मेरे पति सत्या प्रिया मजूमदार मुझसे उम्र में 10 साल बड़े हैं तो एक कंस्ट्रक्शन फर्म में काम करते हैं।”

– “शादी के बाद मैं सोशल वर्क के लिए उतना एक्टिव नहीं रह पाई क्योंकि मेरे पास फैमिली की कई रिस्पांसबिलिटी आ गई थीं। हालांकि 2010 से मैंने वापस से अपने सपने सोशल वर्कर की तरफ काम करना शुरु कर दिया और फिर कभी पलट कर नहीं देखा।”

– अनामिका आगे बताती हैं, “करीब 7 साल पहले मैंने गरीब बच्चों की शिक्षा, आर्ट, कल्चर और जागरुकता के लिए काम करना शुरु किया था। इसी पर काम करते-करते मैंने बाद में एक NGO-Faith in India खोल लिया।”

– “हमारे पास इसके लिए पर्याप्त फंड और ऑर्गनाइजेशन नहीं था। ऐसे में मेरे पास KBC जाने की सिर्फ एक ही मकसद था कि मैं यहां जाकर पैसे जीतकर समाजसेवा में लगा सकूं।”

पति को नहीं पसंद है अनामिका का सोशल वर्क

– बातचीत के दौरान अनामिका ने बताया कि उनके पति को उनका सोशल वर्क करना पसंद नहीं है।
– दरअसल सत्या का कहना था कि वो इस वजह से अपने बच्चों और फैमिली को टाइम नहीं दे पाती हैं।

– इसी रीजन की वजह से अनामिका और सत्या की काफी लड़ाइयां भी होती थीं लेकिन उन्होंने अपना काम नहीं छोड़ा।
– बता दें, दोनों का एक बेटा अरनव मजूमदार(14) और एक बेटी प्रेरणा मजूमदार(12) है।

डिप्रेशन के दौर से गुजर चुकीं अनामिका

– “शादी के शुरुआती दिनों में जब मैं ज्वाइंट फैमिली में रहती थी जिसकी वजह से मुझे कई परेशानियां का सामना करना पड़ा।”
– “इसकी वजह से मैं काफी परेशान रहने लगी थी। बात यहीं नहीं रुकी मुझे इस परेशानियों की वजह से डिप्रेशन जैसी गंभीर बीमारी का सामना करना पड़ा।”
– “परिवार में प्रॉपर्टी को लेकर काफी लड़ाइयां हो रही थीं। साथ ही मेरे हसबैंड से भी रिश्तों को लेकर प्रॉब्लम हो रही थी।”
– “यही वो टर्निंग प्वॉइंट बना जब मैंने वापस इनजीओ में काम करना शुरु किया और मुझे इससे खुशी मिलने लगी।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.