अम्मा की डांट से घर छोड़ भागे, आरपीएफ के नन्हे फरिश्ते अभियान के जरिए समस्तीपुर स्टेशन पर मिले तीनों बच्चे

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के समस्तीपुर स्टेशन पर ‘नन्हे फरिश्ते’ अभियान के तहत घर से भागे तीन बच्चों को आरपीएफ ने बरामद कर लिया। तीनों बच्चे मधुबनी जिले के राजनगर थाना क्षेत्र के सुगौना गांव के रहने वाले हैं। आरपीएफ ने तीनों बच्चों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया है।

मां की डांट से घर से भागे थे बच्चे
आरपीएफ सूत्रों ने बताया कि घर में मां की डांट से नाराज होकर एक नाबालिग लड़की अपने छोटे भाई व बहन के साथ घर से भागकर ट्रेन से समस्तीपुर पहुंच गई। घर से बच्चों के भागने पर परिजनों ने रेलवे के हेल्पलाइन संख्या 139 पर शिकायत की थी। कंट्रोल से सूचना मिलते ही आरपीएफ इंस्पेक्टर वेद प्रकाश वर्मा तत्काल अन्य आरपीएफ की मदद से तीनो को खोज निकाला। आरपीएफ ने बताया कि तीनों बच्चे प्लेटफार्म संख्या पांच पर बैठे मिले। उन्हें सुरक्षित चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया है।

नन्हे फरिश्ते मिशन में मिल रही सफलता


आरपीएफ द्वारा बच्चों की सकुशल बरामदगी के बाद उसे पोस्ट पर लाया गया। बच्चों के पास से तीन हजार रुपये मिले। परिजनों को सूचना दे दी गई है। आरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नन्हे फ़रिश्ते अभियान के तहत बच्चों की तस्करी रोकने और घर से भागे हुए बच्चों को वापस उनके घर पहुंचाने में अबतक सफलता मिलती रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.