नीतीश के समर्थन में अमित शाह का बड़ा बयान…….

खबरें बिहार की राजनीति

पटना । बिहार में सत्ताधारी महागठबंधन के घटक दलों राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) का कलह चरम पर है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के एक बयान से यहां राजनीति और गरमा सकती है। अमित शाह ने जदयू के भाजपा के साथ गठबंधन की सरकार को याद करते हुए तत्‍कालीन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व को सराहा है।जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर लिखी किताब (श्यामा प्रसाद मुखर्जी- हिज विजन ऑफ एजुकेशन) का दिल्‍ली में लोकार्पण करने के दौरान अमित शाह ने नीतीश कुमार और भाजपा-जदयू सरकार के कार्यकाल की जमकर तारीफ की। इसका असर बिहार की राजनीति पर पड़ना तय माना जा रहा है।

 

नीतीश को लेकर अमित शाह के इस बयान पर बिहार में राजनीति और गरमाने की आशंका है। इसे नीतीश के समर्थन में भाजपा के स्‍टैंड के संकेत के रूप में भी देखा जा रहा है। पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी व प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष नित्‍यानंद राय सहित बिहार भाजपा के कई नेता भी सीएम नीतीश के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ एक्‍शन का समर्थन कर चुके हैं।

विदित हो कि बीते दिनों राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर सीबीआइ ने छापेमारी की थी। इस सिलसिले में सीबीआइ ने लालू प्रसाद, उनकी पत्‍नी राबड़ी देवी तथा पुत्र तेजस्‍वी यादव सहित कइयों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की। तेजस्‍वी बिहार के डिप्‍टी सीएम हैं।

 

डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी के खिलाफ भ्रष्‍टाचार की एफआइआर के बाद भाजपा उनके इस्‍तीफे की मांग कर रही है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भी उनके इस्‍तीफे पर अड़े बताए जा रहे हैं। उधर, राजद ने साफ कर दिया है कि तेजस्‍वी  इस्‍तीफा नहीं देंगे। इस मुद्दे पर महागठबंधन के दोनों घटन दलों में तकरार चरम पर पहुंच चुका है।

बहरहाल, महागठबंधन कह तकरार के इस नाजुक दौर में अमित शाह का बयान आग को और भड़का दे तो आश्‍चर्य नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.