पवित्र अमरनाथ यात्रा की तारीख की घोषणा हो गई है. यात्रा की शुरुआत 23 जून से होगी और इसका समापन 3 अगस्त को होगा. यह यात्रा 42 दिनों तक चलेगी. इस दिन रक्षाबंधन भी पड़ रहा है. पिछली बार ये यात्रा 46 दिन तक चली थी. दिलचस्प बात ये है कि जम्मू कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद ये पहली अमरनाथ यात्रा है. यात्रा को शुरू करने का फैसला अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड की मीटिंग में हुआ.इस मीटिंग की अध्यक्षता उपराज्यपाल जीसी मुर्मू कर रहे थे.

जो लोग यात्रा में शामिल होना चाहते हैं उनका पंजीकरण एक अप्रैल से शुरू हो जाएगा. बता दें कि बीच में कश्मीर में जारी समस्याओं को देखते हुए कुछ समय के लिए यात्रा पर भी असर पड़ा था. लेकिन अब ये यात्रा फिर से शुरू होने जा रही है. 23 जून को ही जगन्नाथ यात्रा भी शुरू होगी. यात्रा सावन पूर्णिमा (रक्षा बंधन) के दिन 3 अगस्त को समाप्त होगी. बोर्ड ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का कोटा बढ़ाने का निर्णय लिया है.

इस पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत 2019 में की गई थी. इसकी सफलता को देखते हुए बोर्ड ने यह निर्णय लिया है. बोर्ड के सीईओ ने यात्रा क्षेत्रे में निर्बाध टेलीकॉम कनेक्विटी सुनिश्चित कराने के लिए उपाय करने के आदेश दिए. यात्रियों को सुरक्षा संबंधी दिशा-निर्देश देने के लिए जागरूकता कार्यक्रम भी लॉन्च किया जाएगा. यह प्रोग्राम सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सहयोग से लॉन्च किया जाएगा.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here