इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और ओपनर एलिस्टेयर कुक ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में उतरने के साथ ही लगातार 154 टेस्ट खेलने का नया वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बना डाला है.

कुक ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलन बोर्डर के रिकार्ड को पीछे छोड़ा, जिन्होंने 1979 से 1994 तक अपने देश की तरफ से लगातार 153 टेस्ट मैच खेले थे.

कुक ने भारत के खिलाफ नागपुर में मार्च 2006 में खेले गये मैच से टेस्ट क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. उन्‍होंने उस मैच में शतक भी जड़ा था, लेकिन बीमार होने के बाद वह सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच में नहीं खेल पाये थे.

कुक ने इसके बाद इंग्लैंड की तरफ से प्रत्येक टेस्ट मैच खेला. उनके नाम पर हेडिंग्ले टेस्ट शुरू होने से पहले तक 155 मैचों में 12099 रन दर्ज थे जिसमें 32 शतक भी शामिल हैं. बोर्डर ने जब अपना 153वां टेस्ट मैच खेला था तब वह 38 साल के थे जबकि कुक अभी 33 साल के हैं.

लॉर्ड्स टेस्ट मैच में कुक ने पहली पारी में 70 रन बनाये लेकिन दूसरी पारी में वह केवल एक रन बनाकर आउट हो गये थे.पाकिस्तान ने यह टेस्ट नौ विकेट से जीतकर दो मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बनायी.

 

लगातार टेस्ट मैच खेलने के रिकॉर्ड के मामले में कुक और बोर्डर के बाद ऑस्ट्रेलिया के मार्क वॉ (107), भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर (106) और न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैक्‍कलम (101) का नंबर आता है.

न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान रहे मैक्‍कलम अपने करियर में डेब्‍यू के बाद संन्यास लेने तक कभी किसी टेस्ट मैच से बाहर नहीं रहे. इसी तरह से एडम गिलक्रिस्ट ने भी अपने डेब्‍यू के बाद लगातार 96 टेस्ट मैच खेलकर क्रिकेट के इस प्रारूप को अलविदा कहा.

हाल में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले एबी डिविलियर्स ने पदार्पण के बाद लगातार 98 टेस्ट मैच खेले, लेकिन बेटे के जन्म के कारण इसके बाद वह एक टेस्ट मैच में नहीं खेल पाये थे. उन्होंने कुल 114 टेस्ट मैच खेले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here