मेमोरी का फिर लोहा मनवाया नालंदा जिले का अजित ने वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया में दर्ज कराया अपना नाम

कही-सुनी

अहमदाबाद में 7 से 16 अक्टूबर तक आयोजित वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में अजीत भारती का नाम हो गया है दर्ज

अहमदाबाद में 7 से 16 अक्टूबर तक आयोजित वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में अजीत भारती का नाम दर्ज हो गया है. अजित नालंदा जिले के नूरसराय प्रखंड के अंतर्गत नारी गांव के रहने वाले है. पहले भी अजित अपनी मेमोरी पावर का लोहा कई मंचों पर मनवा चुके हैं.

इससे पहले अजित बीते 9 मार्च 2018 को एशिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में अपना नाम दर्ज करवाया था. एक मिनट में 200 अंकों को याद कर के रिकॉर्ड दर्ज हो गया. अजित इससे पहले इंडिया बुक ऑफ रेकॉर्ड में 2015 में अपना नाम अंकित करवाया था. उत्तराखण्ड के मुर्लमंती से युथ आइकॉन अवार्ड भी मिल चुका है. जिसमें इन्होंने बिहार का प्रतिनित्व किया था.

पिछले सात वर्षों से अजित भारती विभिन्न राज्यों में स्कूल और कॉलेजेस में बच्चों को memory improvement (स्मृति सुधार) का क्लास ले रहे हैं. वर्ल्ड रिकॉर्ड् बनाने के बाद इनकी ख्याति देश और विदेशों में भी है. अजित अपना ज्यादा समय बिहार के बच्चों को देते हैं. बहुत सारी चीजें अजीत कुछ ही सेकंड में कर देते हैं, किसी भी तारीख़ का दिन 1 सेकंड में बता देने की क्षमता रखते है.

विश्व की सारी महत्वपूर्ण दिवस चुटकियों में बता देने में उनका सानी नहीं है. विश्व की सारी देश की राजधानी मुद्वा बतला ही नही देगें. बल्कि उनके विद्वानी भी कुछ ही घंटों में क्लास करने के बाद बतला सकते हैं. किसी भी नम्बर का छनमूल कैलक्यूलेटर से पहले बतला देंगे. रसायन शब्द की पूरी आवर्त सारणी वो किसी भी बच्चों को 1 घंटे में सीखा देते हैं. अजित का ये सपना था कि उनका नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया में आये.

Leave a Reply

Your email address will not be published.