अजगैवीनाथ घाट पर गंगा ने दी दस्तक, खतरों से खेल जलभरी कर रहे शिवभक्त

आस्था खबरें बिहार की

बिहार के सुल्तानगंज में गंगा नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने के कारण अजगैवीनाथ मंदिर जाने वाली दोनों सड़कें जलमग्न हो गयी हैं। नई सीढ़ी घाट अजगैवीनाथ पुल की सुंदरता में चार चांद लग रहा है। इन इलाकों में पानी भर गया है।

शुक्रवार को कुछ कांवरियों ने नई सीढ़ी घाट की पक्की सीढ़ी एवं अजगैवीनाथ पक्की सीढ़ी पर स्नान किया। अधिकांश कांवरिया जोखिम भरे कच्ची सीढ़ी घाट पर स्नान कर गंगाजल लेते रहे। गंगा किनारे की सारी झोपड़ियां पानी में डूब चुकी हैं। महिलाओं के लिए बनाए गए वस्त्र बदलने का घर पानी में डूब जाने के कारण महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं महिला कांवरिया को यूरिनल की समस्या भी उत्पन्न हो रही है।

गंगा किनारे दो कांवरिया गिरे 

गंगाजल भरने के दौरान गोरखपुर यूपी से कांवरिया दिनेश यादव (45) और कैमूर भभुआ रामगढ़ से आये गुड्डू साह गंगा किनारे गिरकर बेहोश हो गये। दोनों को रेफरल अस्पताल इलाज के लिए भेजा गया। इलाज के बाद दोनों की स्थिति सामान्य हुई।

लाठी के सहारे दिव्यांग सरपंच चले बाबाधाम

रोहतास जिला के अकोरी गोला प्रखंड के वाघाखोह ग्राम कचहरी के सरपंच विनय साह (40) एक पैर से दिव्यांग रहते हुए लाठी के सहारे बाबा दरबार जा रहे हैं। कांवरिया सरपंच ने बताया कि बचपन में ही पोलियो मार देने से बाएं पैर से चल नहीं पाता हूं। लाठी के सहारे अपना सारा कार्य करता हूं। बाबा की कृपा से आज मैं अपने ग्राम कचहरी का सरपंच हूं तथा विगत 8 वर्षों से बाबा दरबार जा रहा हूं।

टोपी- चश्मा की मांग बढ़ी

तपती धूप एवं उमस भरी गर्मी से परेशान कांवरिया धूप से बचने के लिए टोपी एवं चश्मा की खरीदारी अत्यधिक कर रहे हैं। चश्मा बेच रहे युवक रोहित ने बताया कि धूप के कारण कांवरिया रोक-रोककर टोपी एवं चश्मा खरीद रहे हैं। इससे दिन भर की मजदूरी निकल जाती है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.